Connect with us

Haryana

अभिवावकों ने बोला स्कूल एनुअल चार्ज के खिलाफ हल्ला बोल

सत्यखबर, यमुनानगर (सुमित ओबेरॉय) – सरकार के आदेशों के बाद भी निजी स्कूलों की मनमानी जारी है। यमुनानगर के सेक्टर 17 स्तिथ निजी स्कूल स्वामी विवेकानंद की मनमानी के खिलाफ अभिवावकों ने आज स्कूल प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी की और स्कूल प्रशासन को अपनी मांगों का एक ज्ञापन सौंपा। वहीँ मैनेजमेंट का कहना है […]

Published

on

सत्यखबर, यमुनानगर (सुमित ओबेरॉय) – सरकार के आदेशों के बाद भी निजी स्कूलों की मनमानी जारी है। यमुनानगर के सेक्टर 17 स्तिथ निजी स्कूल स्वामी विवेकानंद की मनमानी के खिलाफ अभिवावकों ने आज स्कूल प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी की और स्कूल प्रशासन को अपनी मांगों का एक ज्ञापन सौंपा। वहीँ मैनेजमेंट का कहना है कि अभिवावकों के सभी बातें निराधार है और हम तो हर एनुअल चार्ज ले रहे है 10 परसेंट जो कि स्कूल की डेवलपमेंट में काम आते है और हम ये चार्ज लेते रहेंगे।

अभिवावकों ने बोला स्कुल के खिलाफ हल्ला स्कूल में किया हंगामा और स्कूल पर कई आरोप लगाये। स्कूल की मनमानी के खिलाफ नारेबाजी कर रहे इन अभिवावकों का कहना है कि स्कूल एनुअल चार्ज के नाम पर हर वर्ष पैसे वसूल रहा है। राजेश सचदेवा ने बताया कि इस वर्ष जो स्कूल ने फीस भेजी उसमे एनुअल चार्जेज 3900 रुपए लगाए गए है जो कि बिल्कुल नाजायज है और सीबीएससी की भी गाइडलाइन्स है आज हम परेशान होकर सभी इकठे हुए है। माँ बाप को लूटा जा रहा है कोई सुनवाई नही है। आज हमने स्कूल को एक शिष्टाचार से एक ज्ञापन दिया है की हम ये एनुअल चार्जेज देने में असमर्थ है। हमने एक हफ्ते का टाइम मांगा है अगर स्कूल कोई जवाब देगा तब हम बैठ कर देखेंगे इसमे क्या निष्कर्ष निकालना है नही तो हम संगर्ष जारी रखेंगे चाहे हमे स्कूल के बाहर अनशन पर बैठना पड़े।

वहीँ स्कूल की मनमानी के खिलाफ आई महिलाओ ने बताया कि स्कूल में कोई सुविधा नही दी जा रही हर महीने के चार्जेज ज्यादा है। बस का किराया बहुत है स्कूल में पढ़ाई जीरो हो गयी है हमें करवानी पड़ती है। ये कहा जाता है कि स्कूल के बाथरूम टॉयलेट साफ करो हम आपको मेनर सीखा रहे है। स्कूल का व्यवहार बहुत गलत है।

वहीँ स्कूल मैनेज मेन्ट के अधिकारी ने बताया कि आज हमे बच्चो के अभिभावक मिले उन्होंने मांग की उनकी एनुअल चार्जज़ हटाये जाए। लेकिन ये हम नही हटा सकते ये स्कूल की डेवलपमेंट के लिए है। 10 परसेंट हमे करनी पड़ती है ये फण्ड बच्चो के ही काम आता है। स्कूल मैनेजमेंट का कहना है अभिभवकों की ये बाते कुछ निराधार है स्कूल में सभी सुविधाएं है। अब ऐसे में देखना होगा इन अभिभावकों की कौन सुनेगा।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *