Connect with us

Haryana

अभी से समझना होगा जल का महत्त्व – डा. एन.पी. सिंह

सत्यखबर तरावड़ी (रोहित लामसर) – समाजसेवी डा. एन.पी. सिंह ने कहा कि जल ही जीवन है। पानी की एक-एक बूंद कीमती है, जल है तो कल है, जैसे स्लोगन की सत्यता जितनी जरूरी आज के लिए है उससे कहीं ज्यादा भावी पीढ़ी के लिए है। किसी ने ठीक ही कहा है, जल जैसे प्राकृतिक संसाधन […]

Published

on

सत्यखबर तरावड़ी (रोहित लामसर) – समाजसेवी डा. एन.पी. सिंह ने कहा कि जल ही जीवन है। पानी की एक-एक बूंद कीमती है, जल है तो कल है, जैसे स्लोगन की सत्यता जितनी जरूरी आज के लिए है उससे कहीं ज्यादा भावी पीढ़ी के लिए है। किसी ने ठीक ही कहा है, जल जैसे प्राकृतिक संसाधन कुदरत की नेमत है और हमें पूर्वजों से विरासत के रूप में मिले हैं, जिन्हें हमें संजोकर भावी पीढ़ी को सौंपना होगा। समाजसेवी डा. एन.पी. सिंह जल बचाओ अभियान को लेकर पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे।

उन्होने लोगों से पानी बचाने की अपील करते हुए कहा कि हमें पानी के महत्व को अभी से समझना होगा, नहीं तो ऐसा समय भी आएगा जब हम पानी की बूंद-बूंद को तरसेंगे। डा. नरेंद्र प्रताप सिंह ने कहा कि नहाने, कपड़े धोने, पशुओं को नहलाने, गाडिय़ां धोने, सडक़ों व नालियां साफ करने जैसी दैनिक जीवन की कार्यवाही में पानी का प्रयोग जरूरत अनुसार ही करें। सडक़ पर गली या मोहल्ले में व्यर्थ में पानी फैंक रही टूंटी या नल अपने आप बंद नहीं होंगे, हम सबकी जिम्मेवारी बनती है कि हम ऐसे नलों व टूंटियों को जरूरत न होने पर बंद कर दें।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *