Connect with us

Haryana

अल्टीमेटम 20 नवंबर तक किसानो के गन्ने की बकाया भुगतान नहीं तो, होगा बड़ा आंदोलन

सत्यखबर इंद्री ( मैनपाल ) – गन्ना एक्शन कमेटी के नेतृत्व में किसानो का 14 करोड़ रूपये गन्ने का बकाया भुगतान न मिलने से गुस्साए किसानो ने इंद्री के पिकाडली भादसो शुगर मिल गेट के सामने कुरुक्षेत्र इंद्री मार्ग पर रोड जामकर मिल प्रबंधक के खिलाफ नारेबाजी की। मिल प्रबंधक पर किसानो ने आरोप लगाया […]

Published

on

सत्यखबर इंद्री ( मैनपाल ) – गन्ना एक्शन कमेटी के नेतृत्व में किसानो का 14 करोड़ रूपये गन्ने का बकाया भुगतान न मिलने से गुस्साए किसानो ने इंद्री के पिकाडली भादसो शुगर मिल गेट के सामने कुरुक्षेत्र इंद्री मार्ग पर रोड जामकर मिल प्रबंधक के खिलाफ नारेबाजी की। मिल प्रबंधक पर किसानो ने आरोप लगाया की मिल प्रबंधक किसानो की गन्ने की पेमेन्ट देने में आनाकानी कर रहा है। जिसकी वजह से किसानो ने मजबूरन होकर रोड जाम किया। स्थिति बिगड़ती देख इंद्री के तहसीलदार दर्पण काम्बोज व् पुलिस अधिकारियो ने मौके पर पहुंचकर किसानो को समझा बुझाकर बड़ी मस्कत के बाद जाम को खुलवाया। जाम तक़रीबन दो घण्टे तक लगा रहा।

गन्ना एक्शन कमेटी के प्रधान रामपाल चहल ने कहा की मिल प्रबंधक व प्रसाशन के अधिकारियो की मौजूदगी में किसानो समझौता मिल प्रबधक के अधिकारियो के साथ हुआ की 2 0 नवम्बर तक गन्ने की बकाया राशि 14 करोड़ देने व् मिल को 21 नवंबर चलाने का आश्वासन दिया तभी किसान धरने से उठे। उन्होंने कहा की अगर मिल प्रबधक ने किसानो की गन्ने की बकाया पेमेंट 20 नवंबर तक दी और 21 नंबर तक मिल को चालू नहीं किया किसान मिल प्रबंधक के खिलाफ बड़ा आंदोलन छेड़ने पर मजबूर हो जायेगे।

भारतीय किसान यूनियन के प्रदेश अध्यक्ष गुरनाम सिंह चढूनी ने कहा की मिल के कुछ कर्मचारियों मुझे खरीदना चाहा और मुझे एक लाख रूपये की रिश्वत भी गई जो मैंने सभी किसानो के बीच में रख दी। मिल प्रबंधक किसान नेताओ खरीदना चाहती है। रिश्वत देकर किसानो को नहीं खरीद सकते। जो पैसा हमने मिल की तरप से दिया गया है उस पैसे में से 50000 हज़ार गन्ना एक्शन कमेटी के खाते में और 50000 हज़ार रूपये भारतीय किसान यूनियन के खाते में जमा करवाया जायेगा। मिला का पैसा मिल के ऊपर ही खर्च किया जायेगा।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *