Connect with us

Charkhi Dadri

एससी-एसटी एक्ट में संसोधन को लेकर दलित संगठन उग्र

सत्यखबर,चरखी दादरी( विजय ढिंडोरिआ ) एससी-एसटी एक्ट पर तत्काल गिरफ्तारी पर रोक संबंधी सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद विभिन्न दलित संगठन एकजुट हो गए हैं। इसी कड़ी में दलित समाज के कई संगठनों सहित कांग्रेस व बसपा पदाधिकारियों ने दादरी शहर में रोष प्रदर्शन कर एक्ट संसोधन का विरोध किया। दलित समाज ने कोर्ट के फैसले […]

Published

on

सत्यखबर,चरखी दादरी( विजय ढिंडोरिआ )

एससी-एसटी एक्ट पर तत्काल गिरफ्तारी पर रोक संबंधी सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद विभिन्न दलित संगठन एकजुट हो गए हैं। इसी कड़ी में दलित समाज के कई संगठनों सहित कांग्रेस व बसपा पदाधिकारियों ने दादरी शहर में रोष प्रदर्शन कर एक्ट संसोधन का विरोध किया। दलित समाज ने कोर्ट के फैसले पर पुनर्विचार के आग्रह के साथ सुप्रीम कोर्ट में सरकार से पैरवी करने की मांग की। साथ ही अल्टीमेटम दिया कि 2 अपै्रल को भारत बंद के दौरान दलित समाज एकजुट होकर चक्का जाम करके विरोध जताएगा।
विभिन्न दलित संगठन शुक्रवार को दादरी के रोज गार्डन में एकत्रित हुए और रोष प्रदर्शन करते हुए लघु सचिवालय पहुंचे। इस दौरान दलित समाज के लोगों ने एससी/एसटी एक्ट में संशोधन को लेकर सुप्रीम कोर्ट के जारी निर्देशों को वापिस लेने की मांग की। दलितों ने लघु सचिवालय के समक्ष रोष प्रदर्शन करते हुए राष्ट्रपति के नाम उपायुुक्त कार्यालय में ज्ञापन सौंपा। इससे पूर्व दलित नेता विजय चौहान, सुशील धानक व सुरेंद्र दिसोदिया ने संयुक्त रूप से कहा कि इस मामले को लेकर केंद्र सरकार को सुप्रीम कोर्ट में फिर से याचिका लगानी चाहिए ताकि एससी/एसटी एक्ट लगने की सूरत में आरोपी की गिरफ्तारी तुरंत हो सके। उन्होंने कहा कि दलितों पर पहले ही बहुत अत्याचार हो रहे हैं और ऊपर से केंद्र की भाजपा सरकार फिर से जातिवादी व्यवस्था लागू करने पर तुली हुई है। दलित संगठनों ने केंद्र सरकार को अल्टीमेटम देते हुए कहा कि 2 अपै्रल को पूर्ण रूप से भारत बंद किया जाएगा। इसके लिए दलित समाज के सभी संगठन एकजुट होकर संघर्ष की लड़ाई लड़ेंगे।

 

1 Comment

1 Comment

  1. Pingback: 쿠쿠티비

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *