Connect with us

Haryana

ऐंचराकलां गांव में पाॅवरहाउस शुरू होने से मिटेगी बिजली की समस्या – जसबीर देशवाल

Published

on

सत्यखबर सफीदों (ब्यूरो रिपोर्ट) – सफीदों उपमंडल के दक्षिणी क्षेत्र में बिजली की समस्या दूर करने के लिए ऐंचराकला गांव में पाॅवरहाउस स्थापित करने की प्रक्रिया जारी है। जल्द ही इस क्षेत्र को नया पाॅवरहाउस मिलेगा। यह जानकारी विधायक जसबीर देशवाल ने ऐंचराकला गांव में जनसंपर्क अभियान के दौरान दी। उन्होने कहा कि विद्युतापूर्ति को बेहतर बनाने के लिए पिछले चार साल में छह नये पाॅवरहाउस मंजूर करवाये जिसमें रिटौली, खेड़ाखेमावती और कुरूड़ गांव में पाॅवरहाउस चालू हो गए है।

उन्होने बताया कि ऐंचराकलां गांव में डेढ़ करोेड़ रूपये के विकास कार्य हुए है। 77 लाख लागत के दो गहरे ट्यूबवेलों से पीने के साफ पानी की समस्या को दूर किया। मोक्षस्थल के जीर्णोद्वार पर सवा तेरह लाख खर्च हुए। करीब आठ लाख रूपये से बाल्मीकि, जोगी और नायक चैपालों का कायाकल्प हुआ। विधायक जसबीर देशवाल ने बताया कि युवाओं के शारीरिक विकास को प्रोत्साहन देने के लिए दो लाख रूपये व्यायामशाला को दिए। इसके अतिरिक्त गांव की सभी गलियां व फिरनी भी पक्की हुई।

विधायक जसबीर देशवाल ने गांव के मनरेगा मजदूरों से मुलाकात की और उनकी समस्याएं सुनी। उन्होने बीपीएल राशन कार्ड, प्रधानमंत्री आवास योजना व पेशन की शिकायतों पर तुरंत संज्ञान लिया और संबंधित अधिकारी से मामलों की रिपोर्ट तलब की। विधायक जसबीर देशवाल ने कहा कि जनसंपर्क के माध्यम से हर गांव में लोगो को चार साल का हिसाब दे रहा हूं।

जनता को राजनेताओं से विकास कार्यो का ब्योरा लेने का पूरा हक है। उन्होने कहा कि मुख्यमंत्री मनोहर लाल के आर्शीवाद से सफीदों में पहली बार पांच सौ करोड़ रूपये की विकास राशि आई। मुख्यमंत्री ने सदा भरोसा दिया कि हलके के विकास में कभी धन की कमी नहीं होगी। उन्होने कहा कि सफीदों हलके के लोगो को उनका पूरा हक दिलाना ही मेरा राजनीतिक मकसद है और अंतिम सांस तक क्षेत्र के गरीब व पिछड़े लोगो के अधिकारों की लड़ाई लड़ता रहूंगा।

इस मौके पर पूर्व चेयरमैन रणबीर, देशवाल, पूर्व सरपंच जिले सिंह, राजला फौजी, मास्टर पृथ्वी सिंह, नीरज, सेवाराम मलिक, नरेश फौजी, जापान नंबरदार, दिनेश मलिक, रामकला, जगबीर लाठर, पालू, सुरेन्द्र, जसबीर सिंह, राजेश फोगाट, जगदीश बैरागी, तेलूराम देशवाल, मदन लाल जोगिंदर पहलवान, मोनू देशवाल इत्यादि लोग मौजूद थे।