Connect with us

Haryana

ओएलएक्स लूट के दो आरोपी गिरफ्तार

सत्यखबर, नूंह ( ऐ के बघेल ) नूंह मेवात जिले को ओएलएक्स पर सस्ते विज्ञापन देकर दूसरे राज्यों के लोगों को अपने जाल में फंसाकर लूटने के मुख्य आरोपी तिरवाड़ा गांव के शौकीन मोस्टवांटेड और अरशद को दबोचने में सफलता प्राप्त कर ली है। पुलिस को दोनों बदमाशों को कई माह से तलाश थी। दोनों पर […]

Published

on

सत्यखबर, नूंह ( ऐ के बघेल )

नूंह मेवात जिले को ओएलएक्स पर सस्ते विज्ञापन देकर दूसरे राज्यों के लोगों को अपने जाल में फंसाकर लूटने के मुख्य आरोपी तिरवाड़ा गांव के शौकीन मोस्टवांटेड और अरशद को दबोचने में सफलता प्राप्त कर ली है। पुलिस को दोनों बदमाशों को कई माह से तलाश थी। दोनों पर हरियाणा , राजस्थान , यूपी में कई दर्जन मामले लूट – डकैती के बताये जा रहे हैं। पुलिस ने दोनों बदमाशों को दबोच कर राहत की सांस ली है। तिरवाड़ा गांव के नामचीन बदमाश पुलिस गिरफ्त में आ चुके हैं , लेकिन इनके कई गुर्गे अभी भी खुली हवा में सांस ले रहे हैं। पुलिस ने शौकीन और अरशद से दो देशी तमंचा , 6 जिन्दा कारतूस , बाइक बरामद कर ली है। मुखबिर की सूचना पर बिछोर – नई गांव को जोड़ने वाले कच्चे रास्ते से दोनों की गिरफ्तारी हुई है।    आपको बता दें कि इसी माह अरशद उर्फ़ बुग्गा को पुलिस मुठभेड़ में गोली लगने के बाद दबोचा गया था , जिस पर ग्रामीणों ने मुठभेड़ को गलत बताते हुए विरोध भी किया था। इससे पहले आजाद को सीआईए नूंह पुलिस ने दबोचा था। गिरोह अलग – अलग होने की वजह से लगातार गुजरात , एमपी , आंध्रप्रदेश , कर्नाटक सहित कई राज्यों के लोगों को ओएलएक्स पर सस्ती गाड़ियां बेचने का विज्ञापन देकर अपने जाल में फंसा लेते थे। गाड़ी इत्यादि सामान खरीदने के लिए जो लोग आते थे , उन्हें सुनसान जगह में ले जाकर हथियार के बल पर लूट लेते थे। पीड़ितों में पुलिस , सेना से लेकर सेवानिवृत अधिकारी भी शामिल थे। एसपी नाजनीन भसीन से लेकर आईजी सीएस राव ही नहीं बल्कि डीजीपी बीएस संधू भी इस अलग तरह के अपराध की घटनाओं से चिंतित थे। मेवात पुलिस ने ओएलएक्स के नाम पर लूट करने वाले खासकर तिरवाड़ा गांव के चार अलग –  गिरोह पर यूपी पुलिस की तर्ज पर रेड की। उसी का नतीजा है कि कुछ बदमाश खौफ से सरेंडर कर गए तो कुछ को मुठभेड़ के बाद दबोच लिया गया। नूंह जिले में वैसे तो इस तरह के अभी कई गिरोह सक्रिय हैं , जिनकी पुलिस को तलाश है ,लेकिन तिरवाड़ा गांव से अब लगभग इस अपराध को अंजाम देने वालों का सफाया हो चुके है। सीआईए स्टाफ पुन्हाना इंचार्ज कुलबीर ने कहा कि शौकीन और अरशद दोनों अब पुलिस शिकंजे में हैं , दोनों को कोर्ट में पेश कर रिमांड पर लेने की तैयारी  है ताकि लूट की लाखों की रकम बरामद की जा सके।