Connect with us

Haryana

किसान विरोधी फैसला वापस ले सरकार-अभय सिंह चौटाला

Published

on

सत्यखबर

सिरसा के नाथूसरी चौपटा में किसानों की ओर से किसान महापंचायत का आयोजन किया गया। जिसमें इनेलेा के राष्ट्रीय महासचिव अभय सिंह चौटाला ने विधायक पद से इस्तीफा देने पर सम्मानित किया गया। महापंचायत में अभय सिंह चौटाला ने कहा कि देश के प्रधानमंत्री ने किसानों के कर्जे माफ करने व लागत मूल्य से अधिक देने का वादा किया था। प्रधानमंत्री ने अपना वादा पूरा करने की बजाय किसानों के खिलाफ ही फैसला लिया।

करनाल का लड़का दिल्ली में पढ़ने वाली 12वीं की छात्रों को लंबे समय से कर रहा था ब्लैकमेल

उन्होंने कहा कि कोरोना महामारी में देश मे लॉक डाउन कर करोड़ों मजदूरों को बेरोजगार कर दिया लेकिन कोरोना की आड़ केंद्र सरकार ने लिए किसान विरोधी फैसले लिये। यह ऐसा वक्त था कि कोरोना महामारी में भी केवल किसानों ने देश की अर्थव्यस्था को मजबूत करने का काम किया था।

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री ने किसानों के खिलाफ बिना किसी चर्चा से अध्यादेश लेकर आये। बड़े बड़े पूंजीपतियों को लाभ पहुंचाने के लिए अध्यादेश लाया गया। जो संसद में पास करवाकर कानून बना दिया गया। उन्होंने कहा कि राज्यसभा में बिना बहुमत के तीनों कृषि बिल पास करवाना निंदनीय कदम है।

कुलदीप बिश्नोई के बेटे भव्य बिश्नोई जल्द ही बंधने वाले है शादी के बंधन में

उन्होंने हरियाणा सरकार के साथ साथ उप मुख्यमंत्री पर भी साधा निशाना और कहा कि चौधरी देवीलाल की नीतियों की बात करने वालों ने कहा था कि अगर एमएसपी खत्म होगा तो इस्तीफा दे देंगे। तीनों कृषि कानूनों से किसान को कुछ समय बाद अपनी जमीन बेचनी पड़ेगी। अभय सिंह ने किसान की लड़ाई में भाग लेने वालों का आभार जताया।

साथ ही 6 फरवरी को किसान बंद में ज्यादा से ज्यादा किसानों को भाग लेने के लिए आह्वान भी किया। उन्होंने कहा कि 12 बजे से तीन बजे तक बंद रखना है यह किसान की लड़ाई है। कांग्रेस पर भी साधा निशाना और कहा कि कांग्रेस ने विपक्ष की भूमिका नहीं निभाई । कांग्रेस ने चर्चा करने की बजाय सदन से किया वाकआउट।

4 Comments