Connect with us

Haryana

कुल्हा प्रत्यारोपण आप्रेशन अस्पताल में होना एक मिसाल : सीएमओ

Published

on

सत्यखबर, जींद 

 गांव काबरेल (हिसार) निवासी कमला (55) ने कभी सोचा भी नहीं था कि वो अपने पैरों पर खड़ा हो पाएगी। फिर कमला को उपचार के लिए जिला मुख्यालय स्थित नागरिक अस्पताल लाया गया। सरकारी अस्पताल में इलाज का सुनते ही कमला पहले तो घबरा गई लेकिन जब उन्होंने आर्थो सर्जन डा. संतलाल बैनीवाल से बात की तो उन्होंने कमला को पूरी तरह स्वस्थ करने का आश्वासन दिया। डा. संतलाल अपने आश्वासन पर खरा भी उतरे और उन्होंने नागरिक अस्पताल के मॉर्डन आप्रेशन थियेटर में कमला के कुल्हे का सफल प्रत्यारोपण किया। अब कमला बिल्कुल स्वस्थ और अपने पैरों पर चल पा रही है। चिकित्सकों की भारी कमी झेल रहे नागरिक अस्पताल को रैफरल अस्पताल के नाम से जाना जाता है लेकिन कभी किसी ने सोचा नहीं था कि यहां भी कुल्हे के प्रत्यारोपण जैसा जटिल आप्रेशन कभी होगा। यह सब हो पाया आर्थो सर्जन डा. संतलाल बैनीवाल की बदौलत। डा. संतलाल ने बताया कि जब कमला देवी उनके पास आई तो वो कुल्हे के तीर्व दर्द से परेशान थी। चल पाने तक की आस कमला देवी छोड़ चुकी थी। लगभग दो साल से कमला कुल्हे के दर्द को लेकर निजी अस्पतालों के चक्कर काट कर थक चुकी थी। क्योंकि वहां कुल्हे के प्रत्यारोपण पर खर्च चार से पांच लाख रुपये तक आ रहा था। ऐसे में कमला देवी चल पाने तक की आस छोड़ चुकी थी। जिस पर उन्होंने कमला देवी के कुल्हे प्रत्यारोपण का जिम्मा लिया। उनके साथ डा. शुष्मलता, निश्चेतन रोग विशेषज्ञ डा. सत्यवान, आप्रेशन सहयोगी सुरेश, कुलदीप की टीम ने कमला देवी का सफल आप्रेशन करने में अहम भूमिका निभाई। कुल्हा प्रत्यारोपण का सफल आप्रेशन होने पर कमला अपने पैरों से स्वयं चल कर अपने घर को गई।
निजी अस्पताल में आता है चार से पांच लाख रुपये खर्च
हड्डी रोग विशेषज्ञ डा. संतलाल बैनीवाल ने बताया कि निजी अस्पताल में कुल्हा प्रत्यारोपण का खर्च चार से पांच लाख रुपये आता है। जबकि नागरिक अस्पताल में बहुत कम खर्च में ही कुल्हा प्रत्यारोपण का सफल आप्रेशन किया गया है। अस्पताल में कुल्हा प्रत्यारोपण आप्रेशन के लिए सीएमओ डा. शशिप्रभा अग्रवाल, एमएस डा. गोपाल गोयल ने उनका सहयोग दिया। इसके अलावा उनकी पत्नी प्रीति ने भी इस जटिल आप्रेशन के लिए उनकी हौंसला अफजाही की।
स्वास्थ्य सेवाएं देने के लिए अस्पताल कृतसंकल्प  : डा. भोला
डिप्टी एमएस डा. राजेश भोला ने कहा कि नागरिक अस्पताल में जो भी सुविधाएं हैं उनका हर व्यक्ति को पूर्ण लाभ मिले, इसके लिए वो हमेशा प्रयासरत रहते हैं। अस्पताल में कुल्हा प्रत्यारोपण जैसा जटिल आप्रेशन पूर्ण तौर पर सफल तरीके से किया जाना अपने आप में एक मिसाल कायम करता है। नागरिक अस्पताल में हड्डी रोग विशेषज्ञ की सुविधाएं पूर्ण तौर पर उपलब्ध हो चुकी हैं और हड्डी रोग से संबंधित मरीजों का सफल उपचार भी किया जा रहा है। उच्च अधिकारियों के सहयोग से हर व्यक्ति को स्वास्थ्य सेवाएं उपलब्ध करवाने के लिए अस्पताल कृतसंकल्प है।