Connect with us

Delhi

कृषि कानूनों के विरोध में ग्रंथी ने गोली मार की खुदकुशी; एक ने निगला जहर, अब तक 60 की गई जान

Published

on

सत्य खबर, दिल्ली

केंद्र सरकार के तीनों कृषि कानूनों के विरोध में चल रहे किसान आंदोलन में मरने वालों की संख्या बढ़ती जा रही है। कोई बीमार होकर जान गंवा रहा है तो कोई खुद की जान ले रहा है। अब तक 60 किसानों की मौत हो चुकी है। अकेले कुंडली बॉर्डर पर 16 लोगों की जान गई। ताजा मामला मंगलवार को सामने आया, जिसमें एक और किसान ने खुद को गोली मारकर खुदकुशी कर ली।

मृतक की पहचान पंजाब के जिला फिरोजपुर के गांव महिमा के ग्रंथी नसीब सिंह मान के रूप में हुई है। ग्रंथी ने आत्महत्या करने से पहले एक सुसाइड नोट भी लिखा है। इसमें ग्रंथी ने लिखा है कि उस पर किसी तरह का कोई कर्जा नहीं है, लेकिन मोदी सरकार के काले कानूनों के कारण किसानों की दयनीय हालत देखकर परेशान हूं। मेरी मौत के लिए मोदी सरकार जिम्मेदार है।

 

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *