Connect with us

Haryana

कृषि क्षेत्र में मशीनीकरण को बढावा देने के उद्वेश्य से केन्द्र की ओर से शुरू की गई नई योजना

सत्यखबर, पलवल (मुकेश बघेल) – कृषि क्षेत्र में मशीनीकरण को बढावा देने के उद्वेश्य से केन्द्र की ओर से शुरू की गई नई योजना के तहत फसल अवशेष प्रबधन पर जोर दिया जाएगा तथा अधिक से अधिक किसानों को आधुनिक मशीनों को अपनाने के लिए प्रेरित किया जाएगा। इस योजना के जिला में सफल क्रियान्वयन […]

Published

on

सत्यखबर, पलवल (मुकेश बघेल) – कृषि क्षेत्र में मशीनीकरण को बढावा देने के उद्वेश्य से केन्द्र की ओर से शुरू की गई नई योजना के तहत फसल अवशेष प्रबधन पर जोर दिया जाएगा तथा अधिक से अधिक किसानों को आधुनिक मशीनों को अपनाने के लिए प्रेरित किया जाएगा।

इस योजना के जिला में सफल क्रियान्वयन के संबंध में मंगलवार को लघु सचिवालय के सभागार में एस.डी.एम. पलवल जितेन्द्र कुमार की अध्यक्षता में जिला स्तरीय क्रियान्वयन एवं समीक्षा समिति बैठक हुई । बैठक में गांव स्तर तथा उपमण्डल स्तर पर गठित की मॉनिटरिंग टीम बारे भी विचार विमर्श किया गया। उन्होंने संबंधित अधिकारियों को आवश्यक दिशा निर्देश दिए।

इस अवसर पर 07 जीरो टीलेज मशीन के ड्रॉ भी निकाले गए। जो किसानों को 50 प्रतिशत अनुदान पर मशीने दी जाएंगी।

एस.डी.एम. ने कृषि विभाग के अधिकारियों से कहा कि फसल अवशेष प्रबंधन के बारे में ज्यादा से ज्यादा किसानों को जागरूक किया जाए। उन्होंने जिला विकास एवं पंचायत अधिकारियों से कहा कि इस कार्य में ग्राम सचिवों की सहायता ली जा सकती है। शिक्षा अधिकारियों से कहा कि गांवों स्कूली बच्चों द्वारा फसल अवशेष प्रबन्धन बारे जागरूकता रैली निकाली जाए तथा स्कूलों प्रश्नोत्तरी व निबंध प्रतियोगिताएं भी आयोजित करवाई जाएं।

बैठक में उप निदेशक कृषि विभाग विरेन्द्र देव आर्य ने बताया कि 15 सितम्बर से 30 अक्तूबर तक गांव स्तर पर किसान जागरूकता शिविर लगाए जाएंगे। जिसमें किसानों को फसल अवशेष न जलाने के लिए जागरूकता उत्पन्न की जाएगी। इसके अलावा फसल अवशेष का प्रबन्धन मशीनों द्वारा किस तरह से किया जा सकता है। उन्होंने बताया कि 25 सितम्बर से 30 नवम्बर तक जिला के सभी ब्लाकों मोबाइल प्रदर्शन वैन चलाई जाएगी ताकि किसानों को फसल अवशेष प्रबंधक बारे जागरूक किया जा सके। इसके अतिरिक्त किसानों के खेतों पर लगभग 1250 एकड़ में फसल अवशेष प्रबन्धक के संबंध में प्रदर्शन प्लाट आयोजित किए जाएंगे। उन्होंने बताया कि फसल अवशेष न जलाने वाले किसानों को विभाग द्वारा सम्मानित भी किया जाएगा।

बैठक में जिला विकास एवं पंचायत अधिकारी ए.के. कौशिक , जिला उपशिक्षा अधिकारी गोविन्द तायल, कृषि विज्ञानिक बी.के. शर्मा, तहसीलदार होडल गुरदेव, उपमण्डल अधिकारी कृषि कुलदीप तेवतिया, सहायक कृषि अभियंता दीपचन्द, हरियाणा रोडवेज के वर्कस मैनेजर नीरजन कुमार तथा जिला अग्रणी बैक से मेहर सिह मौजूद थे।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *