Connect with us

Haryana

केरल की करो मदद ! अधिकारीयों, कर्मचारियों से एक दिन की सैलरी दान करने की अपील

सत्यखबर, सफीदों – केरल में आई सदी की सबसे बड़ी बाढ़ का दंश झेल रहे पीड़ित केरल वासियों की मदद के लिए प्रशाशन ने पहल की है। सफीदों के एसडीएम मंदीप कुमार ने आज केरल में आपदा प्रभावी लोगों की मदद के लिए उपमंडल वासियों का आहवान किया कि वे संकट की घड़ी में मानवता […]

Published

on

सत्यखबर, सफीदों – केरल में आई सदी की सबसे बड़ी बाढ़ का दंश झेल रहे पीड़ित केरल वासियों की मदद के लिए प्रशाशन ने पहल की है। सफीदों के एसडीएम मंदीप कुमार ने आज केरल में आपदा प्रभावी लोगों की मदद के लिए उपमंडल वासियों का आहवान किया कि वे संकट की घड़ी में मानवता के नाते केरल के लोगों की मदद करने के लिए आगे आयें। उन्होंने कहा कि केरल में भारी जलभराव के कारण तबाही होने, लोगों के जानमाल का नुक्सान होने पर आमजन संकट की घड़ी में है इसलिए मानवता के नाते बाढ़ के कारण मुसीबत में फंसे केरल के लोगों की मदद करना हमारा नैतिक फर्ज बनता है।

एसडीएम मंदीप कुमार ने आमजन, शहरी, ग्रामीण,स्वयं सेवी और समाजसेवी संस्थाओं तथा अन्य संगठनों से पीड़ित लोगों की सहायता हेतु अपील करते हुए कहा कि उपमंडल के लोग हमेशा से ही इस तरह की स्थिति में पीड़ितों की मदद करते आये है। उन्होंने नगरवासियों, ग्रामीणों और स्वयं सेवी संस्थाओं से अपील करते हुए कहा कि वे केरल के लोगों की मदद के लिए आगे आयें और अपने सामर्थय के अनुसार जीवनोंपयोगी सामान उपलब्ध करवाये ताकि उसे समय रहते केरल के बढ़ पीड़ित लोगों तक पहुंचाया जा सके।

मनदीप कुमार ने बताया कि बाढ़ प्रभावित लोगों को इन हालातों में फौरी राहत के लिए गॉरमेंट्स, महिलाओं के पहनने के बच्चों व् बड़ों के कपड़े, पुरूषों, बच्चों के लिए तोलिये,चादरें,छोटी टोर्चें, बैड सीट, दरी,द्योती, साड़ी, हवाई चप्पल, छोटी बैटरियां जैसी चीजों की आवश्यकता होती है इसलिए जनसाधारण इन चीजों को दान स्वरूप उपलब्ध करवाने का प्रयास करें। इसके अलावा केरल बाढ़ प्रभावित लोगों को खाद्य सामग्री की भी सख्त आवश्यकता है, इसलिए लोग ड्राई फ्रूट जैसे मठ्ठी, नमकीनपारे, कचौरी, पौहा,भूने हुए चने, मुंगफलियां, चाय का पाऊडर, दूध का पाऊडर जैसा सामान भेज सकते है। इसके अलावा एंटी सैफ्टिक डिडोल, साबुन, टुथपेस्ट,टुथब्रश, बलीचिंग पाऊडर, सैनिटरी, नैपकीन, हवा वाले तकिये, मोमबतियां, हैण्डवास, नहाने की साबुन आदि वस्तुएं केरल के लोगों के लिए भेज सकते है। उन्होंने अपील की कि दान दी गयी वस्तुएं व अन्य सामग्री पैकिंग में ही दें ताकि सामान सुरक्षित तरीके से भिजवाया जा सके।

मंदीप कुमार ने पहल करते हुए केरल बाढ़ पीड़ितों की सहायता हेतु एक दिन का वेतन दान किया और अन्य सभी अधिकारी व कर्मचारीयों से भी अपील करते हुए कहा कि वे मानवता के नाते अपना कम से कम एक दिन का वेतन बाढ़ प्रभावी लोगों की मदद के लिए अवश्य दें। वे इस सहायता राशि को सीधे प्रधानमंत्री राहत कोष, मुख्यमंत्री राहत कोष में जमा करवा सकते है।

एसडीएम मंदीप ने जानकारी देते हुए बताया कि दानदाता उनके द्वारा दान दिए गए सामान को प्राचीन तीर्थ नागक्षेत्र के हाल में 23 अगस्त तक जमा करवा सकते है। दानवीरों द्वारा दी गयी सभी वस्तुओं और खाद्य सामग्री को 24 अगस्त सुबह जिला मुख्यालय भिजवाया जाएगा जहाँ से राहत सामग्री बाढ़ पीड़ितों के लिए ट्रकों में केरल के लिए रवाना की जायेगी।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *