Connect with us

Haryana

हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने केंद्रीय बजट 2021-22 में हरियाणा के लिए पांच हजार करोड़ रुपये के पैकेज की मांग की

Published

on

सत्यखबर 

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण के साथ हुई प्री-बजट बैठक में मुख्यमंत्री ने आम बजट में केंद्र सरकार की तरफ से किए जाने वाले प्रावधान के अलावा कृषि, किसान कल्‍याण और ग्रामीण विकास सहित कई योजनाओं के क्रियान्वयन के लिए राशि मांगी। उन्‍होंने काेरोना संकट के प्रभाव से उबरने से लेकर राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र के शहरी व ग्रामीण विकास के लिए इस पैकेज की मांग को आधार बनाया।

http://https://satyakhabarindia.com/अब-स्‍कूलों-में-पढ़ते-नजर/ ‎

केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण के साथ प्री-बजट बैठक में शामिल हुए मुख्यमंत्री मनोहर लाल

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण के साथ बैठक के बाद मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कहा कि कोविड-19 के संकट से बाहर निकलने के लिए प्रबंधन, स्वास्थ्य व आधारभूत मेडिकल सुविधाओं पर राज्य सरकार ने 2300 करोड़ रुपये अतिरिक्त खर्च किए। इसलिए इसकी भरपाई के लिए केंद्र सरकार से तीन हजार करोड़ रुपये मांगे गए हैं। उन्होंने बताया कि राज्य में कृषि,किसान और ग्रामीण विकास के लिए एक हजार करोड़ तथा एक हजार करोड़ रुपये की राशि राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र के शहरी व ग्रामीण विकास के लिए मांगे गए हैं।

मुख्यमंत्री मनोहरलाल ने बताया कि केंद्रीय बजट 2021-22 में केंद्र सरकार हरियाणा की बेहतर गतिशीलता के लिए यह प्रावधान करे। इसके लिए केंद्रीय वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण के समक्ष तथ्यात्मक रिपोर्ट भी राज्य की तरफ से रखी गई है। प्री-बजट बैठक में हरियाणा के वित्त विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव टी वी एस एन प्रसाद भी मौजूद रहे।

केएमपी के साथ रेल परियोजना पर शीघ्र शुरू हो काम

वित्त मंत्री के साथ प्री-बजट में हिस्सा लेने के बाद मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने सायं रेल भवन में रेल मंत्री पीयूष गोयल से भी राज्य की विभिन्न रेल परियोजनाओं को लेकर चर्चा की। मुख्यमंत्री ने बताया कि केंद्र सरकार ने सितंबर 2020 में पलवल से सोहना-मानेसर-खरखौदा होते हुए सोनीपत तक  हरियाणा आर्बिटल रेल कारिडोर परियोजना को मंजूरी दी थी।

उन्‍होंने बताया कि यह रेल लाइन पलवल से शरू होगी और मौजूदा हरसाना कलां स्टेशन (दिल्‍ली-अंबाला खंड पर) पर समाप्‍त होगी। यह मौजूदा पातली स्‍टेशन (दिल्‍ली-रेवाड़ी लाइन पर), सुल्‍तानपुर स्‍टेशन (गढ़ी हरसरू-फरुखनगर लाइन पर) और असौध स्‍टेशन (दिल्‍ली-रोहतक लाइन पर) को मार्गस्‍थ कनेक्टिविटी प्रदान करेगी। यह परियोजना हरियाणा रेल बुनयादी ढांचा विकास निगम लिमिटेड द्वारा पूरी जाएगी, जो रेल मंत्रालय के साथ मिलकर स्थापित की गई संयुक्त उद्यम कंपनी है।

रेलमंत्री पीयूष गाेयल के साथ चर्चा करते सीएम मनोहरलाल। (तस्‍वीर हरियाणा डीपीआर ने उपलब्‍ध कराई)

उन्‍होंने बताया कि इस परियोजना की अनुमानित कार्य समापन तक लागत 5617 करोड़ रुपये है। अगले पांच साल में पूरे होने वाली इस परियोजना के लिए मुख्यमंत्री ने रेल मंत्री से विस्तार से चर्चा की। इससे हरियाणा के पलवल, नूंह, गुरुग्राम, झज्‍जर और सोनीपत जिले लाभान्वित होंगे। राज्य सरकार ने केएमपी के दोनों ओर दो किलोमीटर क्षेत्र को रिहायशी, वाणिज्यिक और औद्योगिक रूप में विस्तारित करने का प्रविधान भी किया है। इस परियोजना से इस क्षेत्र में विकास के नए आयाम जुड़ेंगे। इसके अलावा गुरुग्राम में पंचग्राम योजना को भी इससे लाभ मिलेगा।