Connect with us

Haryana

खुद पैसे देकर उठवाने पड़ रहे मृत पशु

कई सालों से नगरपालिका में नही हो रहा कोई टैंडर, न ही मृतक पशुओं को दबाने की कोई निर्धारित जगह सत्यखबर तरावड़ी (रोहित लामसर) – कस्बे के जी.टी. रोड पर हादसे में पशुओं की मौत हो जाती है, इसके बाद मृतक पशु जी.टी. रोड पर ही कई-कई दिनों तक पड़े रहते हैं, जिससे यह एक […]

Published

on

कई सालों से नगरपालिका में नही हो रहा कोई टैंडर, न ही मृतक पशुओं को दबाने की कोई निर्धारित जगह
सत्यखबर तरावड़ी (रोहित लामसर) – कस्बे के जी.टी. रोड पर हादसे में पशुओं की मौत हो जाती है, इसके बाद मृतक पशु जी.टी. रोड पर ही कई-कई दिनों तक पड़े रहते हैं, जिससे यह एक तरफ जहां वाहन चालकों के लिए परेशानी का सबब बनते हैं, वहीं आसपास के क्षेत्र में बदबू का भी आलम पैदा हो जाता है। इसके अलावा शहर के कई इलाकों में भी जब पशु मरते हैं तो उन्हें भी उठाने वाला कोई नही हैं। नगरपालिका तरावड़ी के अधिकारी और कर्मचारी मृत पशुओं को उठाने के लिए कोई कदम उठाना भी उचित नही समझते। न ही नगरपालिका की तरफ से शहर में मृत पशुओं को दबाने के लिए कोई जगह निर्धारित हैं और न ही उन्हें उठाने के लिए कोई पुख्ता इंतजाम।

जब पशु मरते है तो हालत इतनी दयनीय हो जाती है कि उसे उठाने वाला कोई नही होता, मरे हुए पशुओं के कारण आसपास के क्षेत्र में बदबू फैल जाती हैं। लोगों को परेशानी झेलनी पड़ती हैं, लेकिन नगरपालिका में मृत पशुओं को उठाने की समस्या को लेकर लोगों की सुनने वाला कोई नही होता। लोगों को खुद पैसे देकर मृत पशुओं को उठवाना पड़ रहा है। इसके बाद पशु उठा तो लिए जाते हैं, लेकिन उसे दबाने के लिए कोई जगह नही मिलती। ऐसे में मृत पशुओं को नड़ाना व सौंकड़ा रोड पर सडक़ किनारे की फैंक दिया जाता है, जिससे वहां पर बदबू का आलम पैदा हो जाता है।

नगरपालिका के अधिकारी राम-भरोसे
आपको बता दें कि कई सालों से नपा की ओर से मृत पशुओं को उठाने के लिए कोई प्रस्ताव भी पारित नही किया गया। जानकारी देते हुए सुनील उर्फ सिल्ला, राकेश मान, नरेंद्र चौधरी, संदीप, पंकज ठाकुर, चिराग डूडेजा, कमल शर्मा व विक्रांत अग्रवाल समेत अन्य लोगों ने बताया कि नपा की ओर से मृत पशुओं को उठाने के लिए पुख्ता इंतजाम होने चाहिए। नपा पर बजट होने के बावजूद भी लोगों को अपने पैसे देकर मृत पशुओं को उठवाना पड़ रहा है और फिर नगरपालिका की ओर से मृत पशुओं को दबाने के लिए भी कोई जगह निर्धारित नही होती। उन्होने बताया कि जी.टी. रोड के साथ-साथ नड़ाना, लल्याणी व सौंकड़ा रोड पर मृत पशुओं के पड़े होने के कारण बदबू आती है। जिससे आने जाने में परेशानी का सामना करना पड़ता है। लोगों ने मांग की है कि मृत पशुओं के लिए नगरपालिका की ओर से पुख्ता इंतजाम होने चाहिए।

1 Comment

1 Comment

  1. Pingback: china dumps shop

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *