Connect with us

Ambala

गर्मियों का मौसम शुरू होते ही नगरवासियों को लग सकते हैं बिजली कट के झटके

सत्यखबर,अम्बाला (रोज़ी बहल)  इस बार एक महीना पहले ही गर्मी का मौसम शुरू होने से सरकार की उपभोक्ताओं को 24 घंटे बिजली देने की योजना को करारा झटका लगने वाला है ! एक तो बाज़ारों को पोल लेस करने का काम चल रहा है और दिन में कट लगने का सिलसिला शुरू हो चूका है […]

Published

on

सत्यखबर,अम्बाला (रोज़ी बहल)

 इस बार एक महीना पहले ही गर्मी का मौसम शुरू होने से सरकार की उपभोक्ताओं को 24 घंटे बिजली देने की योजना को करारा झटका लगने वाला है ! एक तो बाज़ारों को पोल लेस करने का काम चल रहा है और दिन में कट लगने का सिलसिला शुरू हो चूका है ! दूसरी और यूएचवीबीएन में वर्किंग स्टाफ की कमी भी खल रही है ! वैसे भी केंट के एक्सियन दफ्तर में स्थित 33 केवीए सब स्टेशन से उपभोक्ताओं को बिजली देने के जो दावे किये जा रहे हैं इसकी अपग्रेडेशन  बिजली गर्मी के सीजन में लोगों को कट  देकर परेशान कर सकती है ! वहीँ उपभोक्ताओं का कहना है कि बिजली विभाग ने मीटर राइडिंग और बिल बाँटने का जिस कम्पनी को ठेका दिया है वे राइडिंग से कहीं ज्यादा बिल देकर परेशान कर रही है और दूसरी और बिजली निगम अधिकारी उनकी सुनते नहीं ! बिजली जाने पर कॉपी कंप्लेंट सुनने वाला नहीं होता और अधिकारी स्टाफ की कमी का बहाना बना देते हैं  वहीँ HSEB वर्कर्स यूनियन भी स्टाफ की भर्ती ऑफ़ कच्चे स्टाफ को पक्का करने के लिए लगातार सरकार से मांग करता आ रहा है ! लेकिन पिछले कई वर्षों से रिटायर होने वाले स्टाफ की जगह कोई भर्ती नहीं की जा रही ! यूनियन का आरोप है कि इतने कम स्टाफ से काम चलना मुश्किल हो रहा है ! वहीँ विभाग ने सब स्टेशन अपग्रेड का काम शुरू किया है वो पहले चरण में भी नहीं है जो काम अबतक पूरा हो जाना चाहिए थे लेकिन अभी पुरानी बिल्डिंग को तोड़ा जा रहा है ! गर्मी का मौसम शुरू हो चूका है, लोगों को अतिरिक्त बिजली की मांग बढ़ेगी और बिजली के झटके लगने वाले हैं ! क्योंकि केंद एक्सियन दफ्तर की यार्ड स्टिक अनुसार पूरा स्टाफ देने की सरकार ने घोषण की थी लेकिन कभी अधिकारीयों ने यार्ड स्टिक का अध्यन नहीं किया ! अम्बाला केंट के तीन सब डिवीजनों में 85 हज़ार उपभोक्ता हैं, उसके मुताबिक 40 कनिष्ठ अभियंता की जगह 11 जीई काम कर रहे हैं , 33 फोरमेन की जगह 10 फोरमेन कार्यरत हैं , वहीँ इतने कनेक्शन को रिपेयर करने वाले 90 लाइनमेन की जगह 53 काम कर रहे हैं ! वहीँ 230 एएलएम की जगह कच्चे व पक्के 116 कर्मचारी हैं !  यूनियन प्रधान रुपेश की माने तो आगे पड़ने वाली भीषण गर्मी से जहाँ उपभोक्ता को बिजली के झटके लगेंगे वहीँ कर्मचारियों पर विभाग अतिरिक्त दबाव अपनाएगा ! प्रधान ने एक्सियन पर कर्मचारी विरोधी निति अपनाने का आरोप लगते कहा कि वे बेवजह कर्मचारियों को पत्र द्वारा परेशान करते रहते हैं लेकिन सरकार को स्टाफ कमी बारे नहीं बताते ! प्रधान ने सरकार पर आरोप लगाया है कि अपने वायदे से मुकरते सरकार ने कई क्लर्क की भर्ती तो कर दी लेकिन बिजली विभाग को एक भी क्लर्क नहीं दिया जिससे उपभोक्ता बिलो की परेशानी झेलने पर मजबूर हैं ! उन्होंने विभाग द्वारा प्राइवेट कम्पनी को फायदा पहुंचने का आरोप भी लगाया ! उन्होंने सरकार से स्टाफ देने की मांग की है ! विभाग के एक्सियन कशिश मान ने सफाई देते हुए बताया कि सब स्टेशन अपग्रेड करने का काम लम्बा है , यह काम पहले अप्रूव होता है फिर इजाजत होती है अभी हमारा सिविल वर्क चल रहा है ! इससे बिजली बाधित नहीं होगी इसका अतिरिक्त व्यवस्था करके ही इसे शुरू करेंगे ! स्टाफ की कमी को मानते हुए मान ने कहा कि कुछ इम्प्लाई आउट सोर्सिज के आलावा कुछ डीसी रेट के कर्मचारी है लेकिन जो कर्मचारी रिटायर हो रहे उनकी जगह भर्ती नहीं है ! 
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *