Connect with us

Palwal

गांव बघौला,कारना व लालवा गांवों के खेतों में पहुंचकर फसल का उपायुक्त ने किया मुआयना

Published

on

सत्यखबर,पलवल, 14 सितंम्बर।
उपायुक्त नरेश नरवालने सोमवार को राजस्व व सिंचाई विभाग के अधिकारियों को साथ लेकर उपमण्डल पलवल में कुछ गांवों में पिछले दिनोंं हुई भारी बारिश से खेतों में भरे हुए पानी से फसलों के नुकसान का जायजा लिया। इस दौरान उपायुक्त ने गांव बघौला, कारना व लालवा, आदि गांवों के खेतों में पहुंचकर तथा खेतों में रूके  पानी में खड़ी की फसल का मुआयना किया।
दौरे के दौरान पलवल के उपमण्डल अधिकारी ना. कंवर सिंह, सिंचाई विभाग के कार्यकारी अभियंता एस.पी. गर्ग, तहसीलदार रोहताश, खण्ड विकास एवं पंचायत अधिकारी उपमा अरोड़ा व कुलदीप  के अलावा अन्य संबंधित अधिकारी के मौजूद रहे।
उपायुक्त ने किसानों को इस समस्या से जल्द निजात दिलाने व उचित मुआवजा  मिले इसके लिए राजस्व अधिकारियों को संबंधित गांवों में फसल गिरदावरी करवाने के लिए आवश्यक दिशा-निर्देश दिए। लगभग तीन घंटे के दौरे के दौरान उपायुक्त नरेश नरवाल ने उन गांवों का तुफानी दौरा किया जहां पिछले दिनों  जोरदार बारिश से पलवल उपमण्डल के कुछ गांवों के खेतों में जलभराव हो गया था।
उपायुक्त ने इस दौरान उन्होंने जलभराव के चलते गांवों में किसानों  की खराब हो रही फसल तथा गांव में डिजल पम्पो द्वारा खेतों में खड़े पानी को निकालने के कार्यों का भी जायजा लिया। उपायुक्त ने सिंचाई विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए कि इन  डिजल नलकूपों के अतिरिक्त जरूरत पडऩे बिजली चलित नलकूपों का प्रबंध करें ताकि जल्दी से जल्दी खेतों पानी की निकासी हो सके और रबी फसल के लिए खेत तैयार किए जा सके।
इस मौके पर उपायुक्त ने किसानों से बातचीत की और उनकी समस्याओं को जाना। उन्होंने कहा कि सरकार किसानों के प्रति संवेदनशील है तथा  बारिश से हुए नुकसान की पूरी-पूरी भरपाई की जाएगी। किसानों को बिलकुल भी ङ्क्षचता करने की जरूरत नहीं है। उन्होंने मौके पर ही संबंधित अधिकारियों को जल्द विशेष गिरदावरी करने के निर्देश दिए। खेतों में पहंच कर पानी से नष्टï हो रही फसल ज्वार-बाजरा, कपास,धान आदि का मौका मुआयना किया तथा राजस्व विभाग से विशेष रिपोट तैयार करने दिशा निर्देश दिए। उन्होंने किसानों से अपील की कि कपास को सुखा कर ही मण्डी में ले जाए ताकि फसल का उचित मूल्य मिल सके।
उपायुक्त ने अधिकारियों को निर्देश दिए कि गिरदावरी इस तरह से की जाए कि किसान को उसकी फसल को हुए नुकसान की उचित भरपाई हो सके। इस मौके पर हलका गिरदावर ओमप्रकाश भारद्वाज, पटवारी मनीष व मोहित सहित गांवों के सरपंच एवं मौजिज लोग मौजूद थे।
https://www.youtube.com/watch?v=m_3n8RiRGnQ&t=220s