Connect with us

Haryana

गौरव पट्ट पर खुद का नाम न होने से नाराज हुआ राष्ट्रीय स्तर का खिलाड़ी, फेसबुक पर कर रहा अपना दुख साझा

Published

on

सत्य खबर कैथल

आमतौर पर हर गांव में गौरव पट्ट जरुर लगा मिलता है, जिसपर उस गांव के पूर्व व वर्तमान सरपंचों, स्वतंत्रता सेनानियों, सैनिकों और खिलाड़ियों आदि के नाम लिखे हुए होते हैं। कैथल के कैलरम गांव में जेवलिन थ्रो खिलाड़ी बलिंद्र कुमार को गांव के गौरव पट्ट पर खुद का नाम ना होने से गहरा दुख लगा है।

चूँकि उन्होने जेवलिन थ्रो जैसी स्पर्धा में 4 राष्ट्रीय स्तर के और 30 राज्य स्तर के मैडल जीते हैं। इस लिहाज से उन्हें लगता है कि उनका नाम भी गांव में लगे गौरव पट्ट पर होना चाहिये। इसको लेकर बलिंद्र कुमार सोशल मीडिया पर भी कई बार अपना दुख व्यक्त करते रहते हैं।

हरियाणा बिजली मंत्री रणजीत सिंह भी हुए कोरोना संक्रमित

उनका मानना है कि जब गांव वालों को प्रशासन से खेल स्टेडियम की मांग करनी होती है तब तो वे प्रशासन को दिखाने के लिए उनसे मैडल और सर्टिफ़िकेट मांग लेते हैं, मगर गौरव पट्ट जैसी चीज़ पर उनका नाम लिखवाना उन्हें याद नहीं रहता। उनका कहना है कि जब कैलरम गांव के मान सम्मान के लिए उन्होने इतना संघर्ष किया तो उन्हें गौरव पट्ट पर एक छोटी सी जगह तो मिलनी ही चाहिये।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *