Connect with us

Haryana

चक्का जाम को विभिन्न संगठनों ने दिया समर्थन

Published

on

सत्यखबर

किसानों का देशभर में विरोध प्रदर्शन जारी है पर जहां तक कितलाना टोल पर चल रहे अनिश्चित कालीन धरने की बात है यहां की बात ही जुदा है। चाहे धरने के बीच बड़े स्तर पर तिरंगे लहराना रहा हो या महात्मा गांधी की पुण्यतिथि पर आंदोलनकारियों द्वारा अहिसा की शपथ लेना रहा हो देश प्रदेश में चर्चा का विषय बना रहा। आज संयुक्त किसान मोर्चा के आह्वान के चलते कितलाना टोल पर 12 से 3 बजे तक किसानों ने जमीन पर लेटकर अनूठे अंदाज में चक्का जाम किया।

किसान संगठन : किसानों का इम्तिहान ले रही है सरकार

कितलाना टोल पर चल रहा अनिश्चित कालीन धरना आज 44वें दिन में प्रवेश कर गया। भिवानी और दादरी जिले में 25 जगह जाम लगने के बावजूद धरने पर बड़ी संख्या में लोग पहुंचे जिसमें महिलाओं की भी उल्लेखनीय भागीदारी रही। सुबह 10 बजे से ही किसान धरने पर आना शुरू हो गए थे। जैसे ही 12 बजे किसानों ने टोल की मुख्य सड़क पर जाकर जाम लगा दिया और जमीन पर लेटकर सरकार विरोधी नारे लगाते हुए प्रदर्शन किया। किसानों के कहा कि तीन कृषि कानूनों को रद करने, एमएसपी की गारंटी मिलने, कर्जा माफी होने, स्वामीनाथन आयोग की रिपोर्ट लागू करने और दिल्ली में बंद बेकसूर किसानों की बिना शर्त रिहाई होने तक हमारा संघर्ष जारी रहेगा। कितलाना टोल रहा फ्री