Connect with us

Bhiwani

छोटी काशी भिवानी में मनाया गया भगवान परशुराम का जन्मोत्सव

स्वच्छ पर्यावरण व सद्भावना के सन्देश के साथ मनाया गया जन्मोत्सव सत्यखबर, भिवानी (अमन शर्मा) – छोटी काशी के नाम से प्रसिद्ध भिवानी शहर में भगवान परशुराम का जन्मदिन बड़े उत्साह और यज्ञ हवन के साथ मनाया गया और यहाँ पर भगवान परशुराम प्रेमियों ने यज्ञ में आहुति डालकर संकल्प लिया की समाज में सद्भावना […]

Published

on

स्वच्छ पर्यावरण व सद्भावना के सन्देश के साथ मनाया गया जन्मोत्सव

सत्यखबर, भिवानी (अमन शर्मा) – छोटी काशी के नाम से प्रसिद्ध भिवानी शहर में भगवान परशुराम का जन्मदिन बड़े उत्साह और यज्ञ हवन के साथ मनाया गया और यहाँ पर भगवान परशुराम प्रेमियों ने यज्ञ में आहुति डालकर संकल्प लिया की समाज में सद्भावना के साथ भाईचारे को मजबूत करेंगे। आज की दिन ही अक्षय तृतीया का शुभ लगन होने पर लोगों ने धर्म कर्म व् शुभ कार्य भी किए और आज के दिन अनेक मंगल कार्य भी लोगों ने यज्ञ हवन के साथ शुरू किए।

गौरतलब है कि भगवान परशुराम का जन्मोत्सव देशभर में धूमधाम से मनाया जाता है। भगवान परशुराम ऋषि ऋचीक के पौत्र और जमदग्नि के पुत्र हैं। इनकी माता का नाम रेणुका था। वह भगवान शंकर के परम भक्त रहे हैं और भगवान शंकर ने ही उन्हें अमोघ अस्त्र− परशु प्रदान किया था। हाथ में परशु धारण करने के कारण वह दुनिया में परशुराम के नाम से जाने गए। भगवान परशुराम का जन्म वैशाख मास की शुक्ल तृतीया को हुआ था। इस दिन अक्षय तृतीया मनाई जाती है।

पूर्व विधायक शिव शंकर भारद्वाज, पूर्व विधायक शशिरंजन परमार व सामाजिक कार्यकर्ता पन्नू मस्ता ने कहा कि आज सभी वर्गों ने एकता के साथ भगवान परशुराम को याद किया है और यज्ञ हवन के साथ सद्भावना,भाईचारे और स्वच्छ पर्यावरण का सभी ने संकल्प लिया। कहा कि भगवान परशुराम ने अन्याय के खिलाफ लड़ाई लड़ी थी। हमें उनके जीवन आदर्श से प्रेरणा लेकर अच्छे समाज की रचना के लिए सहयोग देना चाहिए। अक्षय तृतीया के दिन जन्म लेने के कारण परशुराम की शक्ति की क्षय नहीं होती हैं। उन्हें राम के काल में भी देखा गया और कृष्ण के काल में भी। उन्होंने ही भगवान श्रीकृष्ण को सुदर्शन चक्र उपलब्ध कराया था। परशुराम भगवान विष्णु के छठे अवतार हैं।

1 Comment

1 Comment

  1. Pingback: espiar whatsapp

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *