Connect with us

Haryana

जल की बेकदरी पड़ सकती है भविष्य पर भारी

सत्यखबर, तरावड़ी (रोहित लामसर) – जल की एक-एक बूंद अनमोल है। जल नहीं होगा तो जीवन भी नही होगा, लेकिन जीवन भी तो तभी संभव होगा, जब जल होगा। यह बात सभी जानते हैं कि जल के बिना जीवन की कल्पना नही की जा सकती, लेकिन इस बात को जानते हुए भी दिन-प्रतिदिन हजारों से […]

Published

on

सत्यखबर, तरावड़ी (रोहित लामसर) – जल की एक-एक बूंद अनमोल है। जल नहीं होगा तो जीवन भी नही होगा, लेकिन जीवन भी तो तभी संभव होगा, जब जल होगा। यह बात सभी जानते हैं कि जल के बिना जीवन की कल्पना नही की जा सकती, लेकिन इस बात को जानते हुए भी दिन-प्रतिदिन हजारों से भी अधिक पानी व्यर्थ नालियों में बहा रहा हैं। कहीं पर खुले में चलते नल, तो कहीं पर गाडिय़ों, मोटरसाईकिलों व अन्य वाहनों को धोते हुए आपको दिख ही जाता हैं कि कितना पानी व्यर्थ बह रहा हैं, लेकिन कोई पानी को बचाने की जहमत तक नही उठाता, ऐसा क्यों।

यदि इसी तरह से जल की बर्बादी होती रही तो आने वाले कुछ सालों के बाद प्राकृति की यह देन कम पड़ जाएगी। जल बचाने को लेकर तरावड़ी शहर के युवाओं से जब बातचीत की गई तो युवाओं ने जल के व्यर्थ बहने पर चिंता जताई। युवा समाजसेवी खुशबीर पहलवान व बिट्टू त्यागी ने कहा कि जल की एक-एक बूंद बचाने की जरूरत है। यदि समय रहते जल नही बचाया गया तो आने वाले समय में हमारी पीढ़ी को जल की एक-एक बूंद के लिए तरसना पड़ेगा। उन्होंने कहा कि जल के बिना जीवन संभव नही है। रवि धनखड़ निवासी संधीर व हरीश मदान ने कहा कि जल की एक-एक बूंद अनमोल है। हमें पानी की हर एक बूंद को कीमती समझकर बचाना होगा। यदि पानी नही बचाया तो हमें आने वाले समय में गंभीर परिणाम भुगतने होंगे।

युवा विनय गर्ग व जय भारत युवा मंडल के तरावड़ी उपाध्यक्ष संदीप कटारिया ने कहा कि यदि अब हम जल संरक्षण को लेकर सचेत नही हुए तो आने वाले कुछ समय में हमे इसके गंभीर परिणाम भुगतने होंगें। अभी भी जल की बर्बादी नही रूक पा रही है। प्रतिदिन वाहनों को धोने में ही लाखों लीटर पानी बर्बाद हो जाता है। जिस तरह से दिन-प्रतिदिन पानी का स्तर कम होता जा रहा है वह दिन दूर नही जब हमें अपने जीवन के इस अनमोल तथ्ये को पाने के लिए बेहद मशक्कत करनी पड़ेगी।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *