Connect with us

Haryana

जाखल: प्रशासनिक आदेशों को दिखाया ठेंगा, कर्फ्यू के दौरान शटर के नीचे से बिक रही शराब

Published

on

सत्य खबर, जाखल, दीपक
करोना के विकराल रूप को लेकर पूरे देश में अफरा तफरी का माहौल है। जिस को मध्य नजर रखते हुए केंद्र व प्रदेश सरकार ने अलग-अलग नियम के अनुसार दुकानें बंद करने के कड़े निर्देश दिए गए हैं तथा रात्रि को कर्फ्यू भी लगाया जा रहा है। लेकिन इन निर्देशों के बावजूद भी जाखल में कई शराब ठेका संचालक सरकार के नियमों को ठेंगा दिखाते हुए देर रात्रि तक शटर के नीचे से शराब की बिक्री सरेआम कर रहे हैं। हालांकि प्रशासन की खानापूर्ति के तौर पर चक्कर लगाती है लेकिन फिर से देर रात्रि तक शराब की बिक्री जारी रहती है।
शराब की अवैध बिक्री का मुद्दा बाजार में चर्चा का विषय बना हुआ है। जिससे लेकर लोग प्रशासन पर भी सवालिया निशान उठाने लगे हैं। कुछ लोगों ने कहा कि प्रशासन की मिलीभगत से शराब की बिक्री सरेआम हो रही है।इस मामले को लेकर जहां प्रशासन मूकदर्शक बनी हुई है वहीं आबकारी विभाग ने भी एक बार भी छापेमारी नहीं की है जिसे लेकर कभी भी अप्रिय घटना होने से इंकार नहीं किया जा सकता।
दरअसल सरकार ने शाम को 6 बजे बाजार की दुकानें, रेस्टोरेंट्स रेस्त्रां इत्यादि बंद करने के निर्देश दिए हुए हैं। मेडिकल व पेट्रोल पंप इत्यादि के लिए 9 बजे तक का समय निर्धारित किया हुआ है।वहीं शराब के ठेके को बंद करने का 6 बजे का समय निर्धारित किया हुआ है जबकि पिछले कई दिनों से शराब ठेका संचालक प्रशानिक नियमों की सरेआम धज्जियां उड़ाते हुए देर रात्रि तक शराब की बिक्री कर रहे हैं। विभिन्न समाजसेवी संस्थाओं व जागरूक लोगों ने प्रशासन के इशारों पर शराब बिकने का मामला उजागर किया है।
शराब की बिक्री को 6 बजे बंद किए जाने के बाद शटर के नीचे से बिक रही शराब प्रति कयास लगा रहे हैं कि ठेका संचालक मोटा मुनाफा कमाने के लिए लगे हुए हैं।यही नहीं कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलो को देखते हुए हरियाणा सरकार ने समस्त जिलो में धारा 144 लगा दी है ताकि लोग 4 से अधिक एक साथ ना हो लेकिन जाखल में शराब के ठेको व इनके अगल बगल व सामने खुले नाज़ायज आहतो में जुआ ,दड़ा सट्रा खेलने वालो का जमघट रहता है ।
शाम 6 बजते ही गिर जाते है शटर 
हर शाम जाखल शहर में रेलवे स्टेशन के पास शराब ठेके व इसके आस पास वर्षों से दड़ा सट्टा ,जुआ सहित अन्य गैरकानूनी धंधा करने वाले शटर बंद कर अंदर अपना धंधा देर रात तक चलाए रखते है जिसके चलते देर रात तक सट्टा लगाने और शराब खरीदने वाले यहां जमे रहते है । शहर में गश्त करती पुलिस कभी कभार इधर आती है तो लोग कुछ पल के लिए इधर उधर खिसक जाते है ।
पुलिस की कार्यवाही 
ऐसा नहीं कि पुलिस कार्यवाही नही करती करीब 20 दिन पहले रेलवे शराब ठेका के सामने आहते वाले का  10 हज़ार रू से अधिक सट्टा राशी के साथ चालान किया था लेकिन इसके बाद भी लगातार दड़ा सट्टा का अवैध धंधा ज्यो का त्यों जारी है ।
एसपी से कड़ी कार्यवाही की मांग
शहर के जागरूक लोगो ने जिला फतेहाबाद पुलिस अधीक्षक से अवैध रूप से शराब बेचने वाले ठेकेदार व सट्टा खाईवाल करने वालो के खिलाफ इक्का दुक्का नही नियमित कार्यवाही की जाए ।
क्या कहते जिला पुलिस अधीक्षक 
जिला पुलिस अधीक्षक राजेश कुमार ने कड़ी कार्यवाही की बात कहते हुए शराब के ठेको की लोकेशन वॉटसअप करने की बात कही ।