Connect with us

Haryana

जीवन में नशा-नाश का द्वार है- साध्वी पुण्ययशा 

सत्यखबर, नरवाना (सन्दीप श्योरान) :- शांतिदूत, महातपस्वी आचार्य महाश्रमणी की विदुषी शिष्या शासन साध्वी सरोज कुमारी  के सान्निध्य तीन एकासन की अठाइयों का तप अभिनन्दन जैन स्थानक  में किया गया। कृष्ण कुमार जैन ने धर्मपत्नी इशु जैन के साथ एकासन की अठाई की तथा तेरापंथ महिला मंडल की मंत्री रेणु जैन ने भी एकासन की […]

Published

on

सत्यखबर, नरवाना (सन्दीप श्योरान) :- शांतिदूत, महातपस्वी आचार्य महाश्रमणी की विदुषी शिष्या शासन साध्वी सरोज कुमारी  के सान्निध्य तीन एकासन की अठाइयों का तप अभिनन्दन जैन स्थानक  में किया गया। कृष्ण कुमार जैन ने धर्मपत्नी इशु जैन के साथ एकासन की अठाई की तथा तेरापंथ महिला मंडल की मंत्री रेणु जैन ने भी एकासन की अठाई की। कार्यक्रम दीपक जैन मंगलाचरण से प्रारम्भ हुआ। नप चेयरमैन भारतभूषण गर्ग ने कहा कि तप करके मानव बनकर हमारे जीवन को सद्मार्ग पर चलाती है। साध्वी पुण्ययशा ने खाद्य संयम का महत्व बताते हुए कहा कि भोजन को चबा-चबा कर खाना चाहिए, बार-बार, अतिमात्रा में और अधिक व्यंजन एक साथ नहीं खाने चाहिए। जीवन में नशे को स्थान नहंी देना चाहिए नशा-नाश का द्वार है। साध्वी प्रभावना, साध्वी सोमप्रभा, साध्वी पुण्ययशाने सामूहिक गीतिका तप की महत्ता को उजागर किया। तप राखी प्रतियोगिता में प्रथम, द्वितीय, तृतीय स्थान प्राप्त करने वालों सत्यनारायण जैन द्वारा पुरस्कृत किया गया। मंच का संचालन साध्वी सोमप्रभा ने कुशलता पूर्वक किया। इस अवसर पर चेयरमैन प्रतिनिधि नगर परिषद हंसराज समैण, राजेश जैन, कृष्ण जैन, रतनलाल जैन, जयकुमार, श्वेता जैन, धर्मपाल जैन आदि उपस्थित थे।
1 Comment

1 Comment

  1. Pingback: https://munib.org/

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *