Connect with us

Assandh

डाकटर द्वारा अस्पताल में मरीज के परिजन को थप्पड़ मारने का मामला!

सत्यखबर असंध (रोहताश वर्मा) – सामान्य अस्पताल में एक डाकटर द्वारा अस्पताल में ईलाज करवाने आए एक मरीज के परिजन को थप्पड़ मारने का मामला प्रकाश में आया है। इसके बाद डाक्टर ने पुलिस को फोन करके बुलाया व परिजन पर उनके साथ गाली गलौच करने व अभद्र व्यवहार करने के आरोप लगाए। जिसके बाद […]

Published

on

सत्यखबर असंध (रोहताश वर्मा) – सामान्य अस्पताल में एक डाकटर द्वारा अस्पताल में ईलाज करवाने आए एक मरीज के परिजन को थप्पड़ मारने का मामला प्रकाश में आया है। इसके बाद डाक्टर ने पुलिस को फोन करके बुलाया व परिजन पर उनके साथ गाली गलौच करने व अभद्र व्यवहार करने के आरोप लगाए। जिसके बाद पुलिस मरीज के पिता को जिप्सी में बैठा कर थाने ले गई। जबकि मरीज अस्पताल में ही तड़पती रही। हालांकि प्रत्यक्षदर्शियों ने बुखार से तड़प रही लड़की का ईलाज करवाया।

दुपेड़ी निवासी सिराजुदिन ने बताया कि उसकी लड़की को कई दिनों से बुखार था। मंगलवार सुबह उसकी तबीयत ज्यादा बिगड़ गई। जिसको लेकर वह असंध के सामान्य अस्पताल में पहुंचा। लेकिन वहां पर बहुत ज्यादा भीड़ लगी थी जिस कारण वह सीधा डाक्टर चहल के कमरे में चला गया ओर डाक्टर को उसकी बेटी का ईलाज करने के लिए बोला। लेकिन डाक्टर ने उसके साथ अभद्र व्यवहार करते हुए कमरे से बाहर जाने के लिए बोला लेकिन उसने डाक्टर को कहा कि उसकी बेटी की हालत बहुत ज्यादा गंभीर है इसलिए पहले एक बार उसको देख लो लेकिन इसके बाद डाक्टर चहल ने अपनी कुर्सी से उठते ही उसको धक्का दिया ओर उसके मुंह पर लगातार तीन थप्पड़ जड़ दिए।

इसके बाद डाक्टर ने वहां पर पुलिस को बुलाया ओर उसके ऊपर झूठे आरोप लगाते हुए उन्हें पुलिस को पकड़वा दिया ओर उसकी बेटी ऐसे ही तडफ़ती रही। पीडि़त ने आरोप लगाया कि यह डाक्टर मरीजों के साथ अभद्र व्यवहार करता है ओर अस्पताल के बाहर से दवाईयां लिखता है। जहां पर मैडिकल स्टोर व लैबोरट्री वालों के साथ उसकी सैटिंग हैं जहां से उसको मोटा कमीशन मिलता है। सिराजुदीन ने आरोप लगाए कि डाक्टर चहल ने उसको थप्पड मारतु हुए उसे भविष्य में देख लेने की धमकी भी दी है। सिराजुदिन ने कहा कि वह इस मामले को लेकर जल्द ही स्वास्थ्य विभाग के उच्च अधिकारियों , स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज व मुख्यमंत्री से शिकायत करेंगे।

डॉक्टर दवारा दुव्यवहार करने से जनता का उठ जाएगा विश्वास – सरपंच गुलजार
दुपेड़ी गांव के सरपंच गुलजार सिंह ने कहा कि डॉक्टर द्वारा मरीज के अपंग पिता के साथ दुव्यवहार करना गलत है। अस्पताल में मरीज ज्यादा बीमार हो तो उसे डॉक्टर को उसे रेफर कर देना चाहिए। मरीज डॉक्टर को भगवान का रूप मानता है। डॉक्टर को भी उनकी भावनाओं का ख्याल रखना चाहिए। अगर डॉक्टर ऎसे थापड़ मारेगा तो जनता का विश्वास उनसे उठ जाएगा। सरपंच ने कहा डॉक्टर ने सारा समय मरीज का इलाज करने बजाए उसके पिता की शिकायत करने में ही लगा दिया।

मरीज को इसकी बारी पर ही देखूंगा
अस्पताल में आए बलबीर सिंह ने बताया कि मै भी अस्पताल में दवाई लेने आया हुआ था।
लड़की डेंगू का मरीज थी उसका अपंग पिता उसे लेकर डॉक्टर चहल के पास लेकर आया और डॉक्टर से बोला लड़की ज्यादा बीमार है सीरियस केस है पहले उसे देख लो तो डॉक्टर ने कहा मैं मरीज को इसकी बारी पर ही देखूंगा। मरीज के पिता ने दोबारा कहने पर डॉक्टर ने उसके साथ बदतमीजी कर थप्पड़ मार कर उसे बाहर निकाल दिया।

डॉ. जयपाल चहल ने कहा कि लगभग 10:00 बजे मैं ओपीडी में मरीज को देख रहा था। सिराजुद्दीन नाम का लड़का अंदर आकर कहता है कि मेरी लड़की ज्यादा बीमार है आप उसे देख लो मैंने कहा आप पर्ची दे दो आपके मरीज को नंबर आने पर देखा जाएगा। उसने मेरे साथ गाली-गलौच करना शुरू कर दिया। जिससे मैने उसे थापड़ मार दिया

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *