Connect with us

Haryana

तब जागेगा प्रशासन, जब गिर जाऐंगे नौनिहाल, हादसों को न्यौता दे रहे जगह-जगह पर खुले मेनहॉल!

सत्यखबर तरावड़ी (रोहित लामसर) – समस्याएं हल करवाने वाली नगरपालिका इस समय खुद बीमार है। नगरपालिका में एक तो कर्मचारियों का टोटा और दूसरा अधिकारियों का न मिलना, लोगों के लिए परेशानीजनक बन रहा है। जब भी लोग अपने नगरपालिका से संबधित कामकाज निपटाने के लिए नपा में जाते हैं तो उन्हें अधिकारी नही मिलते […]

Published

on

सत्यखबर तरावड़ी (रोहित लामसर) – समस्याएं हल करवाने वाली नगरपालिका इस समय खुद बीमार है। नगरपालिका में एक तो कर्मचारियों का टोटा और दूसरा अधिकारियों का न मिलना, लोगों के लिए परेशानीजनक बन रहा है। जब भी लोग अपने नगरपालिका से संबधित कामकाज निपटाने के लिए नपा में जाते हैं तो उन्हें अधिकारी नही मिलते और जब शहर में नालियों, सीवरेज व स्ट्रीट लाईट के अलावा कोई ओर समस्या से अवगत करवाते हैं तो नपा की ओर से कर्मचारियों की कमी बताकर पल्ला झाड़ लिया जाता है।

शहर में छोटी-छोटी समस्याएं लोगो में आक्रोश पैदा कर रही हैं, क्योंकि यह छोटी समस्याएं हादसों का सबब बन रही है, लेकिन इन समस्याओं को हल करवाने के लिए नगरपालिका के साथ समय नही है। कस्बे के अधिकतर वार्डों में एक तरफ जहां नालियों में सफाई व्यवस्था चरमराई हुई हैं, वहीं सीवरेज के ढक्कन भी कई जगहों से गायब हैं। सबसे ज्यादा आागमन वाला गुरुद्वारा रोड जहां पर हर समय लोगों के अलावा वाहन चालकों का आना-जाना लगा रहता हैं। वहां पर कई दिन से सीवरेज का ढक्कन टूटा हुआ है। जिससे लोगों एवं दुकानदारों को दिक्कत झेलनी पड़ रही है। इसके अलावा वार्ड नंबर-5 के अलावा 6 समेत अन्य कालोनियों में भी सीवरेज के ढक्कन या तो टूटे हुए हैं या फिर गायब हैं। इन सभी समस्याओं से नगरपालिका अनजान है और लोग परेशान हैं।

समस्याओं के बारे में कई बार संबधित अधिकारिों को अवगत करवाया गया, लेकिन समस्या जस की तस है। इसके अलावा गुरुद्वारा रोड पर रविदास चौपाल के पास भी नालियों को ढकने वाले ढक्कन टूटी हालत हैं। जिसके कारण वाहन चालक हादसों का शिकार हो रहे हैं। नगरपालिका अधिकारी समस्याएं निपटाने के लिए प्रयास नही कर रहे हैं। लेकिन रोजाना हादसो को बढ़ावा मिल रहा है। लोगों ने मांग की है कि जल्दी ही समस्या से छुटकारा दिलाया जाए।

ईंटे रखकर चलाना पड़ रहा काम
वार्ड नंबर-6 की मुख्य सडक़ पर सीवरेज का ढक्कन गायब है। कई बार बच्चे चोटिल भी हो चुके हैं। वाहन चालकों की
मोटरसाईकिल भी कई बार गिरने से बची। जब नगरपालिका के अधिकारियों ने समस्या नही सुनी तो लोगों ने ईंटें रखकर काम चलाया। वार्ड नंबर-6 निवासी रमेश कटारिया, सोनी कटारिया, राजपाल समेत अन्य लोगों ने कहा कि ईंटे रखकर सीवरेज के ढक्कन को छिपाया गया है, ताकि कोई हादसा न हो। उन्होंने बताया कि नगरपालिका परिसर में समस्या सुनने वाला कोई नही है।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *