Connect with us

Entertainment

तेलंगाना के नए सचिवाल्य में बनेगे मन्दिर मस्जिद और चर्च , बीजेपी ने किया निजाम को याद

Published

on

सत्य खबर,तेलंगाना

 

तेलंगाना सचिवालय में मंदिर, मस्जिद और चर्च निर्माण के फैसले के बीच आज से राज्य विधानसभा का सत्र शुरू हो रहा है। सरकार ने कहा है कि सत्र के बाद सचिवालय के साथ ही सभी धार्मिक स्थलों की भी आधारशिला रखी जाएगी। तेलंगाना की केसीआर सरकार अपने इस फैसले को गंगा-जमुनी तहजीब का उदाहरण बता रही है तो कुछ दक्षिणपंथी खेमे अलग-अलग अंदाज में विरोध भी कर रहे हैं। तेलंगाना सरकार ने जो निर्णय लिया है उसके मुताबिक, नये सचिवालय में एक मंदिर, एक चर्च और दो मस्जिद का भी निर्माण कराया जाएगा।

मुख्यमंत्री के. चंद्रशेखर राव के कार्यालय की तरफ से जारी बयान में बताया गया है कि पुराने सचिवालय की बिल्डिंग गिराते वक्त क्षतिग्रस्त हुए एक मंदिर और दो मस्जिदों को सरकारी खर्च पर बनाने का फैसला किया गया है। वहीं, ईसाई समुदाय की मांग का ध्यान रखते हुए नये सचिवालय में चर्च भी बनवाया जाएगा।

 

मस्जिद के लिए डेलिगेशन से मिले मुख्यमंत्री:

मुख्यमंत्री केसीआर ने शनिवार को मुस्लिम समुदाय के लोगों के साथ मस्जिद निर्माण को लेकर बैठक भी की। इस दौरान मस्जिद के एरिया समेत बाकी तमाम मसलों पर चर्चा की गई। इसके बाद सीएम केसीआर ने कई फैसले लिए।

मंदिर, मस्जिद और चर्च निर्माण के अलावा सरकार ने कुछ और फैसले भी लिए हैं.।मुस्लिम अनाथ बच्चों के लिए काम करने वाली संस्था अनीस-उल गुर्बाह को और अधिक पैसा दिया गया है साथ ही हैदराबाद में एक इस्लामिक सेंटर स्थापित करने का भी फैसला किया गया है।इसके अलावा कब्रिस्तान की समस्या के समाधान के मद्देनजर हैदराबाद में 150-200 कब्रिस्तान के लिए जगह चिन्हित करने के आदेश दिए गए हैं।

सरकार की तरफ से कहा गया है कि तेलंगाना में सभी धर्मों को समान रूप से सम्मान दिया जाता है. यहां धार्मिक सहिष्णुता का पालन किया जाता है।

नये सचिवालय के डिजाइन पर विवाद:

बीजेपी ने नये सचिवालय के डिजाइन पर ही सवाल खड़े कर दिए हैं। बीजेपी ने कहा है कि नया सचिवालय निजाम काल की किसी मस्जिद जैसा लग रहा है॥ बीजेपी नेता कृष्ण सागर राव ने कहा है कि ऐसा लग रहा है जैसे सरकार के दफ्तर को किसी मस्जिद का स्वरूप दे दिया गया हो। बीजेपी ने सीएम केसीआर पर इन फैसलों के जरिए मुस्लिम समुदाय को लुभाने का भी आरोप लगाय।.

कैबिनेट ने जो डिजाइन पास किया है उसके तहत 7 लाख स्क्वायर फीट में बनने वाले नये सचिवालय में 7 फ्लोर होंगे। नये सचिवालय के निर्माण में करीब 500 करोड़ रुपये की अनुमानित लागत आएगी।