Connect with us

Haryana

नशेड़ी साधुओं व पाखंडियों के खिलाफ जमकर गरजे नवनियुक्त कोथ पीठाधीश्वर

सत्यखबर, सतनाली मंडी (मुन्ना लाम्बा) कोथ पीठ पर लंबे समय से गद्दी को लेकर चल रहे घमासान के पश्चात नव नियुक्त कोथ पीठाधीश्वर महंत शुक्राई नाथ योगी ने नशेड़ी साधुओं पर खुलकर गरजते हुए कहा कि पूरे देशभर में फैली साधु सभ्यता प्रत्येक गांव में स्थित मठ-मंदिरों में भली-भांति देखी जाती रही है। उन मठ-मंदिरों […]

Published

on

सत्यखबर, सतनाली मंडी (मुन्ना लाम्बा)
कोथ पीठ पर लंबे समय से गद्दी को लेकर चल रहे घमासान के पश्चात नव नियुक्त कोथ पीठाधीश्वर महंत शुक्राई नाथ योगी ने नशेड़ी साधुओं पर खुलकर गरजते हुए कहा कि पूरे देशभर में फैली साधु सभ्यता प्रत्येक गांव में स्थित मठ-मंदिरों में भली-भांति देखी जाती रही है। उन मठ-मंदिरों में समाज के सैकड़ों युवा तथा साधुगण आध्यात्मिक लाभ लेने के लिए जाते रहे हैं, परंतु मठ-मंदिरों में बैठे मनमुखी व तथाकथित नशेबाज व सिद्धांत विरोधी तत्व उन श्रद्धालुओं की आस्था के साथ खिलवाड़ करते हुए उन्हें नशेड़ी बनाने का कुकृत्य कर रहे हैं जो कि दुर्भाग्यपूर्ण है। मठ-मंदिरों में मजबूत नींव की ईकाइयां तैयार की जाती रही है लेकिन आज के नशेड़ी धर्म के प्रतिनिधित्व का ढोंग करने वाले ढोंगी लोगों को गुमराह करने के सिवाय कुछ नहीं कर रहे हैं। हर मठ-मंदिर में गांव के लगभग ५०-६० नौजवान को नशेड़ी बना दिया जाता है, जिसका मैं भयंकर विरोध करता हूं। इस नशे के कारण ही घर-घर में कलह की किलकारियां सुनाई दे रही हैं। आखिर कब तक यह विनाश का तांडव चलता रहेगा। मेरा देश विश्व गुरु कहलाया क्योंकि संतों के कंधों के ऊपर जो जिम्मेवारियां थी, उसे उन्होंने कर्तव्य निष्ठा के साथ निभाया। इसलिए साधु समाज के लोग अपने अतीत को याद रखते हुए जागृति लाकर सामाजिक समरसता पर बल दें व नशा मुक्त भारत बनाने का संकल्प लें। जब-जब देश पर संकट आए हैं तब-तब साधु-संतों ने विपरीत परिस्थितियों का मुंहतोड़ जवाब दिया है। कुछ शरारती तत्व मेरी नशे के खिलाफ इस मुहिम को दबाना चाहते हैं। ग्रामीणों का सहयोग ही मेरी ताकत है। नशे के खिलाफ मेरी यह जंग मरते दम तक जारी रहेगी।
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *