Connect with us

Safidon

पुरुषोत्तम मास में गीता के 15वें अध्याय का पाठ करें – सुरेश वृंदावन

Published

on

सत्यखबर सफीदों

पुरुषोत्तम मास में गीता के 15वें अध्याय का पाठ करें। यह बात वृंदावन से आए सुरेश कुमार ने कही। वे बुधवार को श्री कृष्ण कृपा परिवार के सदस्यों की बैठक को संबोधित कर रहे थे। इस मौके पर सदस्यों ने सुरेश वृंदावन को अभिनंदन किया। अपने संबोधन में सुरेश वृंदावन ने कहा कि पुरुषोत्तम मास में श्रीमद्भागवत कथा सुनने, मंत्र जाप, तपस्या, तीर्थ यात्रा करने बड़ा महत्व है और इनके करने से मनुष्य को मोक्ष की प्राप्ति होती है।

इस दौरान श्रीमद् भागवत गीता का पठन-पाठन, उपवास, दान-पूजा, यज्ञ-हवन और ध्यान करने से मनुष्य के सभी पाप कर्मों का क्षय होकर कई गुना पुण्य फल प्राप्त होता है। उन्होंने कहा कि 18 सितम्बर से पुरुषोत्तम मास शुरु हो जायेगा जिसमें श्री कृष्ण कृपा परिवार के सदस्य नित्यप्रति पुरुषोत्तम योग पाठ अर्थात गीता के 15वें अध्याय का प्रतिदिन पाठ करें व करवाए। इस मौके पर प्रमुख रूप से पवन गुंबर, दर्शनलाल मेहता, संजीव चोपड़ा ,रवि थनई, पवन धवन, नानक खन्ना, नरेन्द्र थनई, राजेंद्र वालिया व सुरेश थनई उपस्थित थे।