Connect with us

Haryana

बीजेपी-जेजेपी सरकार के 600 दिन पूरे : सीएम मनोहर लाल ने खोला घोषणाओं का पिटारा, तो विपक्ष ने बताया विफल सरकार

Published

on

सत्यखबर ,चंडीगढ़

हरियाणा में बीजेपी-जेजेपी गठबंधन सरकार के 600 दिन पूरे होने पर मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने गुरूवार को सौगातों का पिटारा खोला। वहीं विपक्ष ने इसे मात्र विज्ञापन बताया है।अपने कार्यकाल के ज्यादातर दिन कोरोना से निपटने में लगाने वाली हरियाणा में सरकार में कोरोना की दूसरी लहर में बुरी तरह प्रभावित छोटे दुकानदार से लेकर असंगठित क्षेत्र के मजदूर, उद्योगपति, फ्रंटलाइन वर्कर्स सभी के लिए मुख्यमंत्री ने राहत पैकेज दिए जाने की घोषणा की है।

यह भी पढें:-  बच्चों को कोरोना से बचाव के लिए आयुष मंत्रालय ने जारी की ये नई गाइडलाइनस

 

प्रदेश के करीब 12 लाख परिवारों को सरकार पांच हजार रुपये की मदद देगी, जिनके काम-धंधे महामारी में प्रभावित हुए हैं। हरियाणा निवास में गुरूवार को पूरी कैबिनेट के साथ मौजूद मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने भविष्य का रोडमैप भी दिखाया। असंगठित क्षेत्र में काम रहे श्रमिकों, करीब तीन लाख छोटे दुकानदारों और अन्य छोटे-मोटे काम कर परिवार की गुजर-बसर करने वाले लोगों को एक मुश्त पांच हजार रुपये दिए जाएंगे।


8 जून को पोर्टल शुरू होगा जिस पर यह लोग आवेदन कर सकते हैं। यह वे लोग हैं जिनके परिवार पहचान पत्र बन चुके हैं। करीब 22 हजार आशा वर्कर, आंगनबाड़ी वर्कर सहित अन्य हेल्थ वर्करों को भी पांच हजार रुपये की प्रोत्साहन राशि दी जाएगी। घर पर ही इलाज कराने वाले 10 हजार बीपीएल कोरोना मरीजों के खाते में माउस के एक क्लिक से पांच हजार रुपये और कोरोना से दिवंगत लोगों के आश्रितों के खाते में दो लाख रुपये डालते हुए मुख्यमंत्री ने घोषणा की कि अस्पतालों में भर्ती सभी बीपीएल मरीजों के इलाज का पूरा खर्च सरकार देगी।

वहीं 18 से 50 साल आयु तक के कोरोना मृतकों के परिजनों की आर्थिक मदद के लिए पोर्टल शुरू कर दिया गया है। जहां पीडि़त परिवार आनलाइन आवेदन कर सकते हैं। हर गरीब परिवार को दीपावली तक मुफ्त राशन दिया जाएगा।
वहीं 600 दिन की उपलब्धियों पर आधारित पुस्तक का विमोचन करते हुए मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कहा कि फिलहाल 67 फीसद गांवों में 24 घंटे बिजली दी जा रही है। हमारी योजना है कि बाकी बचे हुए गांवों में भी 24 घंटे बिजली दी जाए। इस दिशा में तेजी से काम कर रहे हैं। इसके अलावा छोटे से लेकर मंझोले और बड़े उद्योगपतियों को राहत देते हुए मुख्यमंत्री ने घोषणा की है कि अप्रैल, मई और जून का औसत बिल अगर जनवरी-फ रवरी, मार्च के औसत बिल से 50 फीसद से कम है तो फि क्स चार्ज में छूट मिलेगी। औसत बिल 10 हजार रुपये महीने से कम होने की स्थिति में सारा पैसा रिफ ंड किया जाएगा। फिक्स चार्ज 10 हजार से 40 हजार रुपये के बीच है तो 10 हजार रुपये की छूट दी जाएगी। 40 हजार रुपये से अधिक फिक्स चार्ज होने पर 25 फीसद पैसा वापस लौटाया जाएगा। 30 जून तक बिजली उपभोक्ताओं पर कोई अधिभार नहीं लगेगा।
इसके अलावा कोरोना से प्रभावित लोगों को राहत देते हुए शहरी निकाय विभाग ने अप्रैल, मई और जून का सपंत्ति कर माफ कर दिया है। मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कहा कि इस फैसले से लोगों के करीब 150 करोड़ रुपये बचेंगे। दूसरी ओर सवारियां ढोने वाले वाहनों को पहली तिमाही का मोटर व्हीकल टैक्स नहीं देना पड़ेगा। ऐसे वाहन मालिकों को राहत देते हुए प्रदेश सरकार ने 72 करोड़ रुपये का टैक्स माफ कर दिया है तथा वाहन फिटनेस प्रमाण पत्र लेने के लिए समय सीमा भी 30 जून तक बढ़ाई गई है। इलेक्ट्रिक वाहनों बैटरी से चलने वाले वाहनों को प्रोत्साहित करने की कड़ी में सरकार ने किसानों को बड़ा तोहफा दिया है। 30 सितंबर तक ई ट्रैक्टर बुक करने वाले 600 किसानों की 25 फीसद कीमत माफ कर दी जाएगी। अगर आवेदक किसान 600 से ज्यादा हुए तो राहत का फैसला ड्रा के जरिये होगा।
वहीं बीजेपी-जेजेपी सरकार के 600 दिन पूरे होने पर की गई घोषणाओं को हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री और नेता प्रतिपक्ष भूपेंद्र सिंह हुड्डा और कांग्रेस नेता रणदीप सुरजेवाला ने ट्वीट कर सरकार पर निशाना साधा है। सुरजेवाला ने ट्वीट कर लिखा की विज्ञापनजीवी खट्टर साहेब, ये आपके 600 दिन की कुशासन की सच्चाई है कि आज आपका कोई भी मंत्री जनता के बीच जाने की हिम्मत नहीं रखता और आप एक जनविरोधी सरकार के मुखिया है।
वहीं पूर्व मुख्यमंत्री और नेता प्रतिपक्ष भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने हरियाणा सरकार पर तंज कसते हुए ट्वीट में लिखा की जो नहीं हुआ था कभी वो कर दिखाया हरियाणा में कभी नहीं हुआ कि किसान लंबे समय से सडक़ों पर, देश में सबसे ज्यादा बेरोजगारी, पेट्रोल डीजल के इतने दाम जो कभी नहीं हुआ वो बीजेपी-जेजेपी सरकार ने कर दिखाया है।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *