Connect with us

Haryana

बीडीपीओ कार्यालय के बाहर 31 दुकानों की बोली मामले में आया नया मोड

Published

on

सत्यखबर सफीदों (महाबीर मित्तल) – नगर के जींद रोड पर बीडीपीओ कार्यालय के बाहर स्थित 31 दुकानों के किराएदारों की बोली मामले में अब नया मोड आ गया है और यह आया नया मोड यहां के दुकानदारों के बड़ी राहत साबित हो सकता है क्योंकि विभाग अब दुकानों की बोली करवाने की बजाए पुराने दुकानदारों को ही नियमानुसार किराया बढ़ाकर दुकानें देने पर विचार कर रहा है। इस आशय की जानकारी देते हुए ब्लाक समिति चेयरमैन नीशा राकेश शर्मा ने वीरवार को बताया कि पुराने दुकानदारों से दुकानें खाली नहीं करवाई जाएगी। इस मसले के हल के लिए शुक्रवार को बीडीपीओ जितेंद्र शर्मा की मौजूदगी में किराएदारों की बैठक बुलाया गई है।

उन्होंने बताया कि नियमानुसार जो भी किराया बढ़ाने की प्रक्रिया होगी वह किराया बढ़ाकर पुराने दुकानदारों को ही दुकाने देने पर अब विचार चल रहा है। आज रेस्ट हाउस में सभी दुकानदार उनसे मिले थे, जिन्होंने कहा कि जिन 7-8 किराएदारों का किराया बाकी है, वह भी जमा करवा दिया जाएगा। उन्होंने बताया कि बीडीपीओ जितेंद्र शर्मा के छुट्टी पर होने के कारण दुकानदारों के साथ बैठक नहीं हो सकी थी, इसलिए यह बैठक शुक्रवार को बुलाई गई है। बता दें कि बीडीपीओ जितेद्र शर्मा ने यहां के 31 दुकानदारों को दुकानें खाली करने का नोटिस थमा दिया था और आगामी 12 जून की इन दुकानों के किराए की बोली निर्धारित कर दी थी।

इस संबंध में दुकानदार एसडीएम मनदीप कुमार से भी मिले थे और अपनी समस्या का एक ज्ञापन उन्हे सौंपा था। दुकानदारों का कहना था कि वे पिछले 25-30 सालों से इन दुकानों में किराएदार हैं और इन दुकानों में छोटे-छोटे रोजगार कर रहे हैं। उनके परिवार के गुजर-बसर का एकमात्र साधन केवल ये दुकानें ही हैं, इसके अलावा आय का उनके पास कोई साधन नहीं है। ये दुकानें खाली करवाकर उन्हे रोजगार से वंचित करना किसी तरह से भी न्यायोचित नहीं है।

दुकानदारों का कहना था कि वे नियमानुसार किराया बढ़ाने के लिए भी तैयार हैं। उन्होंने एसडीएम से इस बोली को तत्काल प्रभाव से रद्द करने की मांग की थी। ब्लाक समिति के दुकानें खाली ना करने व किराया बढ़ाकर पुराने किराएदारों को ही दुकानें देने की बात के बाद दुकानदारों ने कुछ राहत की सांस ली है।