Connect with us

Safidon

बुढ़ाखेड़ा गांव में संदिग्ध परिस्थितियों में मिला शव

Published

on

मृत्तक के परिजनों ने लगाए हत्या करने के आरोप
पुलिस ने अज्ञात के खिलाफ किया हत्या का मामला दर्ज

सत्यखबर सफीदों

उपमंडल के बुढ़ाखेड़ा गांव में संदिग्ध परिस्थितियों में एक व्यक्ति का शव मिला है। मृत्तक की पहचान सुरेंद्र (45) निवासी बुढ़ाखेड़ा के रूप में हुई है। मृत्तक सुरेंद्र के परिजनों ने उसकी हत्या किए जाने के आरोप लगाए है। मामले की सूचना सफीदों पुलिस को दी गई। सूचना पाकर ए.एस.पी. अजीत सिंह शेखावत व एस.एच.ओ. सदर धर्मबीर सिंह मौके पर पहुंचे। मिली जानकारी के अनुसार शनिवार दोपहर को गांव बुढ़ाखेड़ा में सुरेंद्र नामक व्यक्ति को शव गांव के बाहर पड़ा हुआ मिला। किसी ने शव के पड़े होने की सूचना गांव व परिवार वालों को दी। सूचना पाकर परिजन व काफी तादाद में गांव के लोग मौके पर जमा हो गए। घटनाक्रम की जानकारी सफीदों पुलिस को दी गई।

नई औद्योगिक नीति में एरो-स्पेस व एविएशन पर करेगी प्रदेश सरकार फोकस – डिप्टी सीएम

सूचना पाकर ए.एस.पी. अजीत सिंह शेखावत व एस.एच.ओ. सदर धर्मबीर सिंह पुलिस टीम के साथ मौके पर पहुंचे और घटनास्थल का मुआयना किया। पुलिस ने मौके पर ग्रामीणों से जानकारी हासिल करने की कोशिश की। वहीं पुलिस ने मौके पर एफ.एस.एल. टीम को बुलाया। एस.एस.एल. टीम ने घटनास्थल पर पहुंचकर वहां से साक्ष्य एकत्रित किए। सुरेंद्र के शव को सफीदों के नागरिक अस्पताल लाया गया। सफीदों पुलिस ने मृत्तक के बेटे की शिकायत पर अज्ञात के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज करके जांच शुरू कर दी थी। मृतक की कमर जली हुई थी, सिर में भी चोट का निशान था। फिलहाल पुलिस विभिन्न एंगलों से मामले की जांच कर रही है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही मौत के कारणों का खुलासा हो पाएगा।

मेरे पति को मारकर डाला गया है – नन्ही
मृत्तक सुरेंद्र की पत्नी नन्ही ने आरोप लगाए कि उसके पति को मारकर डाला गया है। उसने बताया कि सुबह से ही उसके पति के साथ गांव का एक व्यक्ति था। उसके पति का शव सरपंच के मकान के पीछे पड़ा हुआ मिला है। उसके सिर में चोट के निशान है तथा कमर को बुरी तरह से जलाया हुआ है। वह ड्राईवरी व मेहनत-मजदूरी का कार्य करता था। उसने बताया कि कुछ लोग उसे शराब पिलाकर उसकी जेब से पैसे तक निकाल लेते थे।

जेजेपी के संगठन में प्रदेश स्तर पर महत्वपूर्ण नियुक्तियां

पति की मौत से उसे उजाडक़र रख दिया है। वह खुद एक हैचरी में मजदूरी करती है और कैसे अब वह अपने 3 बच्चों का पालन-पोषण कर पाएगी। उसने पुलिस ने मांग की कि उसके पति के कातिलों को कड़ी से कड़ी सजा दी जाए। वहीं उसके बेटे सूरज का कहना है कि उसके पिता का शव मिलने की सूचना उन्हे किसी बच्चे द्वारा घर पर आकर दी गई थी। जब उन्होंने जाकर देखा तो उसके पिता के सिर पर चोट थी तथा कमर बुरी तरह से जली हुई थी।

क्या कहते हैं एस.एस.पी.?
ए.एस.पी. अजीत सिंह शेखावत ने बताया कि शव को पोस्टमार्टम के लिए रखवाया गया है। घटनास्थल का फोरेंसिक एक्सपर्ट टीम के साथ जायजा लिया गया है। फिलहाल विभिन्न एंगलों से मामले की जांच की जा रही है। पोस्टमार्टम के बाद ही मौत के कारणों का खुलासा हो सकेगा।