Connect with us

Charkhi Dadri

बेटे को इंसाफ के लिए डीजीपी के बाद एसपी दरबार पहुंचा परिवार

सत्यखबर,चरखी दादरी(विजय ढिंडोरिआ  )   दादरी के गांव झोझूकलां का एक परिवार अपने बीमार बेटे को इन्साफ दिलवाने के लिए डीजीपी से मिलने के बाद अब दादरी में एसपी दरबार पहुंचा। इंसाफ के लिए दर-दर की ठोकरें खाने पर मजबूर परिवार को अब कुछ इंसाफ की आश बंधी है। एसपी ने पूरे मामले में बाढड़ा डीएसपी को […]

Published

on

सत्यखबर,चरखी दादरी(विजय ढिंडोरिआ  ) 

 दादरी के गांव झोझूकलां का एक परिवार अपने बीमार बेटे को इन्साफ दिलवाने के लिए डीजीपी से मिलने के बाद अब दादरी में एसपी दरबार पहुंचा। इंसाफ के लिए दर-दर की ठोकरें खाने पर मजबूर परिवार को अब कुछ इंसाफ की आश बंधी है। एसपी ने पूरे मामले में बाढड़ा डीएसपी को जांच अधिकारी नियुक्त कर कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं।  गांव झोझू कलां निवासी संदीप की झोझू महिला कालेज में रंग-रोगन करते समय गिरने से रीड की हड्डी टूट गई थी। इस मामले में पीडि़त द्वारा कालेज प्रबंधन पर आरोप लगाते हुए अधिकारियों के चक्कर लगाए। लेकिन कोई कार्रवाई नहीं होने पर भी आश नहीं छोड़ी। वहीं पीडि़त अस्पताल में होने के बावजूद भी कालेज प्रबंधन द्वारा लडक़ी से छेड़छाड़ का मामला दर्ज करवाया गया। बेड पर होने पर भी लडक़ी छेड़छाड़ मामले में पुलिस द्वारा पीडि़त को गिरफ्तार कर लिया गया। कालेज प्रबंधन व स्थानीय पुलिस से इंसाफ नहीं मिलने पर पीडि़त संदीप अपने परिवार सहित पिछले दिनों चंडीगढ़ में डीजीपी कार्यालय पहुंचा और इंसाफ की गुहार लगाई। डीजीपी द्वारा इस मामले में तत्परता से कार्रवाई करने के लिए एसपी दादरी को निर्देश दिए और पीडि़त परिवार को दादरी वापिस भेज दिया। बृस्पतिवार को पीडि़त परिवार एसपी से मिला और पूरी कहानी बयां की। एसपी ने इस मामले में डीएसपी बाढड़ा को जांच अधिकारी नियुक्त कर कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं।  पीडि़त पीडि़त संदीप का कहना है कि पिछले साल झोझू कलां के महिला कॉलेज में रंग करने का काम करता था। उस दौरान कॉलेज की लापरवाही के चलते दो मंजिला ईमारत से गिरकर उसकी रीड की हड्डी में चोट आई थी। उनके द्वारा कॉलेज के खिलाफ पुलिस शिकायत की थी और उनकी शिकायत पर पुलिस ने कार्यवाई तो क्या करनी थी बल्कि एक साल से बेड पर बेबस पड़े संदीप पर छेडछाड का झूठा आरोप दर्ज करवा दिया। उसपर लगातार कॉलेज के खिलाफ दी गई शिकायत वापस लेने का दबाव बनाया जा रहा है। वहीं पीडि़त के पिता जयपाल का कहना है कि इंसाफ नहीं मिलने के कारण वह अपने बेटे के साथ अधिकारियों के चक्कर लगा रहा है। इस पूरे मामले में पुलिस की मिलीभगत है। जिसके कारण उसे इंसाफ नहीं मिला।  वहीं डीएसपी हैडक्वार्टर प्रदीप कुमार ने बताया कि पीडि़त परिवार पुलिस अधीक्षक से मिलने पहुंचा है। पीडि़त की पूरी बात धर्य से सुनी गई और डीएसपी बाढड़ा को जांच अधिकारी नियुक्त किया गया है। जल्द ही मामले की जांच करके पीडि़तों को न्याय दिलवाया जाएगा और आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

 

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *