Connect with us

Sonipat

भारतीय किसान यूनियन अंबावता के पदाधिकारियों ने सिंघु बॉर्डर पर की बैठक,सभी किसानों से की अपील फसल को ना करें नष्ट

Published

on

सत्यखबर,सोनीपत(पवन राठी)
 तीन कृषि कानूनों के खिलाफ लगातार किसान सिंघु बॉर्डर पर बैठे हुए हैं। वही अलग-अलग तरीके से सरकार पर दबाव बनाने का काम भी कर रहे है,लेकिन किसान नेता राकेश टिकैत ने एक बयान दिया था कि किसान अपनी फसल को जलाने के लिए तैयार रहें।उसके बाद किसान लगातार आप फसल को नष्ट करने पर तुले हैं।ताजा मामला सोनीपत के सीन आना गांव से सामने आया है जहां पर किसानों ने 5 एकड़ फसल पर ट्रैक्टर चला दिया। उसके बाद अब सोनीपत के सिंघु बॉर्डर पर किसान नेताओं ने एक बैठक की है। भारतीय किसान यूनियन अंबावता के पदाधिकारियों ने बैठक की और किसानों से अपील की कि वह अपनी फसल को नष्ट ना करें ऐसा करना गलत है और यह अपराध भी है। वही सरकार जो भी कहा कि सरकार जल्द बैठकर बातचीत करें।
– केंद्र सरकार द्वारा पारित तीन कृषि कानूनों के खिलाफ लगातार दिल्ली की सीमाओं पर किसान बैठे हुए हैं। वही जब से किसान नेता राकेश टिकैत का बयान आया है। फसल को नष्ट करने पर किसान तुले हुए हैं और उसके बाद किसान नेताओं की अपील कर चुके हैं कि आप ऐसा ना करें वही अब इस पूरे मामले को देखते हुए सोनीपत के सिंघु बॉर्डर पर किसान नेताओं ने एक बैठक की भारतीय किसान यूनियन अंबावता के पदाधिकारियों ने यह बैठक की।
   भारतीय किसान यूनियन अंबावता के राष्ट्रीय महासचिव शमशेर ने जानकारी दी कि लगातार किसान अपनी फसलों को नष्ट कर रहे हैं। उसी के तहत आज की बैठक की गई है वहीं शमशेर दहिया ने किसानों से अपील की कि वह ऐसा ना करें कच्ची फसल को बर्बाद करना गलत है और यह अपराध भी है। वही शमशेर दहिया ने कहा कि लगातार आंदोलन जारी है और संयुक्त किसान मोर्चा के नेता लगातार अलग-अलग जगह लोगों से मिल रहे हैं। वही फसल के आने पर भी उन्होंने कहा कि गांव मे मीटिंग हो चुकी हैं।एक दूसरे की मदद करेगा और फसल को समय पर ही काटेंगे।वही आंदोलन में भी कोई कमी नहीं रहने दी जाएगी।वही सरकार से भी कहा कि सरकार जल्द बैठकर किसानों से बातचीत करें और समाधान निकाले।
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *