Connect with us

Haryana

भूतपूर्व सैनिक संघ द्वारा आयोजित कार्यक्रम में बतौर मुख्यातिथि पहुंचे रामबिलास शर्मा

सत्यखबर, महेंद्रगढ़ (मुन्ना लाम्बा) – शिक्षा मंत्री प्रो. रामबिलास शर्मा आज यादव धर्मशाला में भूतपूर्व सैनिक संघ महेन्द्रगढ़ द्वारा आयोजित रेजांगला शौर्य दिवस समारोह में बतौर मुख्यातिथि पहुंचे तथा कार्यक्रम की अध्यक्षता सांसद चौधरी धर्मबीर सिंह ने की। शिक्षा मंत्री प्रो. रामबिलास शर्मा ने शहीदों को श्रद्वासुमन अर्पित करने उपरांत महेन्द्रगढ़ में शहीदी स्मारक के […]

Published

on

सत्यखबर, महेंद्रगढ़ (मुन्ना लाम्बा) – शिक्षा मंत्री प्रो. रामबिलास शर्मा आज यादव धर्मशाला में भूतपूर्व सैनिक संघ महेन्द्रगढ़ द्वारा आयोजित रेजांगला शौर्य दिवस समारोह में बतौर मुख्यातिथि पहुंचे तथा कार्यक्रम की अध्यक्षता सांसद चौधरी धर्मबीर सिंह ने की। शिक्षा मंत्री प्रो. रामबिलास शर्मा ने शहीदों को श्रद्वासुमन अर्पित करने उपरांत महेन्द्रगढ़ में शहीदी स्मारक के लिए एक महीने के अंदर जमीन उपलब्ध करवाने, अगले सत्र से रेजांगला की लड़ाई को पाठ्यक्रम में जुड़वाने तथा 21 लाख का अनुदान यादव धर्मशाला में बन रही लाईबे्ररी के लिए देकर इस क्षेत्र के सैनिकों को पूरा मान-सम्मान देते हुए सैनिकों एवं उनके परिवारों का दिल जीत लिया।

इस अवसर पर प्रो. रामबिलास शर्मा ने कहा कि बीजेपी की सरकार सैनिकों को मान-सम्मान देने के लिए विख्यात है। पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी ने देश की रक्षा की खातिर शहीद होने वाले सैनिकों के पार्थिव शरीर को उनके घर एवं गांव पहुंचाने की बेहरीन परंपरा की शुरूआत करके सैनिकों को मान-सम्मान दिया। नरेन्द्र मोदी ने प्रधानमंत्री बनने से पहले रेवाड़ी में विशाल सैनिक सम्मान रैली में शिरकत की। प्रधानमंत्री बनने के बाद मोदी ने सैनिकों की वर्षों पुरानी मांग वन रैंक-वन पैंशन को मंजूरी देकर सैनिकों का दिल जीता और सम्मान दिया।

शिक्षा मंत्री प्रो. रामबिलास शर्मा ने कहा कि शहीदों की चिताओं पर लगेंगे हर वर्ष मेले, वतन पर मिटने वालों का यही बाकी निशां होगा। उन्होंने कहा कि स्वतंत्रता सेनानियों एवं रणबांकुरों की कुर्बानियों के कारण हमें आजादी मिली तथा आजादी के बाद हिन्दुस्तान के जांबाज सैनिकों के कारण हम आजाद भारत में सुख-चैन से जीवन बसर कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि 1962, 1965, 1971 व कारगिल की लड़ाइयों में हमारे जवानों ने दुश्मन सेना के दांत खट्टे किए तथा देश की रक्षा की। प्रो. शर्मा ने कहा कि 13 कुमांऊ रेजिमेंट के मुट्ठी भर जवानों ने रेजांगला में 18 हजार फिट ऊंची पहाडियों पर दुश्मन सेना को कड़ी टक्कर दी तथा एक-एक जवान ने दस-दस को मारा और इस युद्ध में महेन्द्रगढ़-रेवाड़ी क्षेत्र के 114 सैनिकों ने शहादत देकर हिन्दुस्तान की रक्षा की थी।

प्रो. रामबिलास शर्मा ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने पाकिस्तान पर सर्जिकल स्ट्राईक करवाई जिसमें हमारे देश के जांबाज कमांडों ने चार घंटे तक पाकिस्तान में घुसकर आतंकवादियों के शिविरों को नष्ट करते हुए मारा था। उन्होंने कहा कि अनेकों जनहितैषी योजनाएं लागू करके प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी अखण्ड हिन्दुस्तान का निर्माण करने में जुटे हुए हैं। इस मौके पर उपायुक्त गरिमा मित्तल, सैनिक विकास संघ महेन्द्रगढ़ के प्रधान कर्नल मनीराम, उप प्रधान सुबेदार रामस्वरूप, कर्नल होशियार सिंह, यादव सभा प्रधान डॉ. प्रेमराज, वीर चक्र हवलदार बुध सिंह, कर्नल ललित कुमार, कर्नल केएस यादव, कर्नल सविता, कोपरेटिव कमेटी के चैयरमेन कंवर सिंह, मार्केट कमेटी के चैयरमेन डालू सिंह, चैयरमेन सतनाली पंचायत समिति मोनिका नागर सहित शहीदों की वीरांगनाएं, भूतपूर्व सैनिक एवं अन्य गणमान्यजन उपस्थित थे।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *