Connect with us

Haryana

महर्षि वाल्मीकि समाज सुधारक एवं महान तपस्वी थे – विजयपाल सिंह

सत्यखबर सफीदों (महाबीर मित्तल) – नगर में महर्षि वाल्मीकि जयंती धूमधाम से मनाई गई। इस मौके पर सफीदों शहर स्थित महर्षि वाल्मीकि मंदिर को सजाया गया तथा सुबह विशाल हवन आयोजित किया गया। हवन के उपरांत विशाल भंडारे का आयोजन किया गया, जिसमें हजारों लोगों ने प्रसाद ग्रहण किया। सांय नगर में विशाल शोभायात्रा निकाली […]

Published

on

सत्यखबर सफीदों (महाबीर मित्तल) – नगर में महर्षि वाल्मीकि जयंती धूमधाम से मनाई गई। इस मौके पर सफीदों शहर स्थित महर्षि वाल्मीकि मंदिर को सजाया गया तथा सुबह विशाल हवन आयोजित किया गया। हवन के उपरांत विशाल भंडारे का आयोजन किया गया, जिसमें हजारों लोगों ने प्रसाद ग्रहण किया। सांय नगर में विशाल शोभायात्रा निकाली गई। शोभायात्रा का बतौर मुख्यातिथि हरियाणा कर्मचारी चयन आयोग के सदस्य विजयपाल सिंह एडवोकेट ने रीबन काटकर शुभारंभ किया।

अपने संबोधन में विजयपाल सिंह एडवोकेट ने कहा कि महर्षि वाल्मीकि साक्षात परमात्मा थे और उनके आदर्श आज भी समाज में प्रासांगिक है। वे उच्च कोटि के समाज सुधारक एवं महान तपस्वी थे, जिन्होंने समाज को हमेशा पथभ्रष्ट होने से बचाया है। महर्षि वाल्मीकि ने समाज को कर्म करने की प्रेरणा देते हुए कहा है कि कर्म से कोई व्यक्ति छोटा या बड़ा नहीं होता है। महर्षि वाल्मीकि ने जातिवाद को समाप्त करके सबको बराबर जीने का गौरव प्रदान किया था, इसके लिए पूरा संसार उनका सदैव ऋणी रहेगा। उन्होंने कहा कि आज के बदलते परिवेश में समाज को उनके बताए मार्ग पर चलने की नितांत आवश्यकता है।

वाल्मिकी समाज के प्रधान गौरी शंकर, देवराज व ठण्डी राम व अन्य लोगों ने विजयपाल सिंह को स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया। यह शोभायात्रा नगर के वाल्मीकि मंदिर से प्रारंभ होकर नगर के मुख्य मार्गों का भ्रमण करते हुए प्रारंभ स्थल पर आकर समाप्त हो गई। शोभायात्रा के दौरान भजनों की धूनों पर समाज के लोग जमकर थिरके। वहीं यात्रा में शामिल धार्मिक झांकियों ने माहौल को भक्तिमय बना दिया।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *