Connect with us

Haryana

मृतक मजदूरों के परिवार को आर्थिक सहायता और सरकरी नौकरी दिए जाने की मांग को लेकर मजदुर यूनियन के प्रदेश अध्यक्ष अनिल नीम्बुड़िया का आमरण अनशन गोहाना में चौथे दिन भी जारी 

सत्यखबर, गोहाना (सुनील जिंदल)   सोनीपत के राई में स्थित एच.एस.आई.डी.सी.में 18 मार्च को एक पेंट फैक्टरी में हुए दर्दनाक हादसे ने कई परिवारों की नींव हिला दी जिस में पांच से छे मजदूरों की मोत हो गई और सात मजदुर घायल हो गए थे मर्तक मजदूरों के परिवार को आर्थिक सहायता और सरकरी नौकरी दिए जाने की मांग को […]

Published

on

सत्यखबर, गोहाना (सुनील जिंदल)

  सोनीपत के राई में स्थित एच.एस.आई.डी.सी.में 18 मार्च को एक पेंट फैक्टरी में हुए दर्दनाक हादसे ने कई परिवारों की नींव हिला दी जिस में पांच से छे मजदूरों की मोत हो गई और सात मजदुर घायल हो गए थे मर्तक मजदूरों के परिवार को आर्थिक सहायता और सरकरी नौकरी दिए जाने की मांग को लेकर मजदुर यूनियन के प्रदेश अध्यक्ष अनिल नीम्बुड़िया का आमरण अनशन गोहाना में चौथे दिन भी जारी रहा ,अनिल नीम्बुड़िया ने गोहाना के भगत सिंह चौक पर शनिवार को अपना आमरण अनशन सुरु किया था , अनिल नीम्बुड़िया का कहना है की सोनीपत के राई में पेन्ट फैक्ट्री में हुई आग जानी के बाद मजदूरों को मोत को आज दस दिन होने को लेकर सरकार ने अभी तक पीड़ित परिवार को कोई सहायता की घोषणा नहीं की इसके इलावा न ही फैक्ट्री मलिक के खिलाफ अभी तक कोई करवाई की गई जब की अधिकारियो की मिली भगत से आज भी वहा कई ऐसी फैक्ट्रियां चल  रही है जिन के पास आज भी परमिशन नहीं है लेकिन सरकार  कोई करवाई नहीं कर रही आमरण अनशन पर बैठे अनिल नीम्बुड़िया का कहना है सरकार मर्तक मजदुर के परिवार को 50 लाख रुपए व् घायल के परिवार को 25 लाख की आर्थिक सहायत के साथ साथ एक एक सरकारी नौकरी दे नहीं तो उनका आमरण अनशन जारी रहेगा  वही पीछे चार दिनों में अनिल नीम्बुड़िया से धरने पर मिलने कोई प्रशासनिक अधिकारी या बीजेपी का कोई नेता मिलने नहीं पंहुचा इसके साथ साथ अनिल की लगातार सेहत भी ख़राब होती जा रही है अब देखा ये है की सरकार के अधिकारी व् नेता इस और कब ध्यान देते है