Connect with us

Haryana

मृत्य अटल है, इससे कोई नहीं बच सकता – हरिराम

सत्यखबर सफीदों (महाबीर मित्तल) – मृत्य अटल है, इससे कोई नहीं बच सकता है। उक्त उद्गार संत हरिराम ने प्रकट किए। वे उपमंडल के कुरड़ गांव में गुरू गौरखनाथ आश्रम में श्रद्धालुओं को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि जो अटल है उससे विचलित नहीं होना चाहिए। मृत्यु से कभी भी विचलित नहीं होना […]

Published

on

सत्यखबर सफीदों (महाबीर मित्तल) – मृत्य अटल है, इससे कोई नहीं बच सकता है। उक्त उद्गार संत हरिराम ने प्रकट किए। वे उपमंडल के कुरड़ गांव में गुरू गौरखनाथ आश्रम में श्रद्धालुओं को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि जो अटल है उससे विचलित नहीं होना चाहिए। मृत्यु से कभी भी विचलित नहीं होना चाहिए। मृत्य होना शाश्वत सत्य है। प्रत्येक व्यक्ति को धर्म के अनुसार आचरण करना चाहिए। सभी को परमात्मा ने धर्म कार्य करने के लिए इस बसुंधरा पर भेजा गया है।

महापुरुषों साधु-संतों, महात्माओं का सत्संग भी करना चाहिए। सत्संग करने से जीवन में समरसता का भाव उत्पन्न होता है। अध्यात्म के प्रति चेतना जाग्रत होती है। जीवन में यदि ईश्वर पर विश्वास करते तो बहुत सारी समस्याओं का समाधान जाता है। जो परमपिता परमात्मा में विश्वास के साथ उनके चरणों में समर्पित हो जाते हैं। मुक्ति, युक्ति उनके हाथ में आ जाती है। ईश्वर के प्रति आस्था होकर चलेंगे तो जिंदगी आसानी से कट जाएगी।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *