Connect with us

Haryana

मेरी फसल मेरा ब्यौरा योजना किसान हित में क्रांतिकारी निर्णय होगा साबित -धनखड़

सत्यखबर, नरवाना (सन्दीप श्योरान) :- कृषि मंत्री ओम प्रकाश धनखड़ ने कहा कि स्व. घासी राम नैन ने अपना पूरा जीवन किसानों की भलाई के लिए समर्पित किया। उन्होंने अपनी जिंदगी के आखिरी क्षण तक कृषक वर्ग एवं गरीब व्यक्ति के हितों के लिए लड़ाई लड़ी और हमेशा निष्पक्ष एवं ईमानदारी के साथ किसान कल्याण […]

Published

on

सत्यखबर, नरवाना (सन्दीप श्योरान) :-
कृषि मंत्री ओम प्रकाश धनखड़ ने कहा कि स्व. घासी राम नैन ने अपना पूरा जीवन किसानों की भलाई के लिए समर्पित किया। उन्होंने अपनी जिंदगी के आखिरी क्षण तक कृषक वर्ग एवं गरीब व्यक्ति के हितों के लिए लड़ाई लड़ी और हमेशा निष्पक्ष एवं ईमानदारी के साथ किसान कल्याण के अपने ध्येय के साथ संघर्ष करते रहे। कृषि मंत्री ने ये विचार गांव लोहचब में भारतीय किसान यूनियन के पूर्व प्रदेशाध्यक्ष स्व. घासी राम नैन की पहली पुण्यतिथि के अवसर पर उनकी मूर्ति अनावरण पर आयोजित कार्यक्रम में व्यक्त किए।कृषि मंत्री ने कहा कि घासी राम नैन किसान कल्याण के क्षेत्र में हमेशा समाज मे सरकार के लिए प्रेरणा स्त्रोत रहेगें। उन्होंने कहा कि मेरी फसल मेरा ब्यौरा योजना किसान हित में क्र ांतिकारी निर्णय साबित होगा। उन्होंने कहा कि इस योजना के तहत बाजरा उत्पादक किसानों को विशेष राहत मिलेगा। कृषि मंत्री ने बताया कि प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के तहत अब तक सरकार को 325 करोड़ रूपए परीमियम के तौर पर प्राप्त हुए है, जबकि बिना विशेष आपदा के किसानों को 806 करोड़ रूपए बतौर मुआवजा दिए गए हैं। उन्होंने विश्वास दिलाया कि 2022 तक किसानों को अपनी फसल की लागत की अपेक्षा दुगुनी कीमत मिलेगी। भाजपा अध्यक्ष सुभाष बराला ने कहा कि स्व. घासी राम ने अपने जीवन में किसानों के लिए बहुत से संघर्ष किए और किसानों की आवाज को बुलंद करने का काम किया। घासी राम नैन ने निष्पक्ष व निस्वार्थ भाव से किसान हितों की लड़ाई लड़ी और सरकारों से पूरी करवाई। इसलिए ऐसे किसान नेताओं के नाम हमेशा देश मेें लिया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि भाजपा ने किसानों की फसलों के न्यूनतम समर्थन मूल्यों में बढोतरी ने जय किसान के नारे को बल दिया है। हरियाणा अनुसूचित जाति वित्त एवं विकास निगम की चेयरपर्सन सुनिता दुग्गल ने घासी राम को किसानों को सच्चा हितैषी एवं मसीहा बताया। उन्होंने कहा कि घासी राम नैन ने किसानों की आवाज को हमेशा पुरजोर तरीके से उठाया और वे किसी भी सरकार के सामने नहीं झूके। यूनियन के पदाधिकारियों एवं अन्य किसान नेताओं द्वारा इमानदारी एवं निष्वार्थ भाव किसानों के मुद्दों को उठाना ही उनके प्रति सच्ची श्रद्धाजंलि होगी।
किसान मसीहा स्व. घासीराम के नाम पर विश्राम गृह का किया शिलान्यास
किसानों के मसीहा भारतीय किसान यूनियन के पूर्व प्रदेशाध्यक्ष स्व. घासी राम नैन की प्रथम बरसी पर पहुंचे प्रदेश के कृषि मंत्री ओमप्रकाश धनखड़ ने नरवाना की मेला  मंडी में बनाए जाने किसान विश्राम गृह का नाम स्व. घासीराम नैन करने का ऐलान करते हुए पत्थर का शिलान्यास भी किया। उन्होंने कहा कि इससे किसानों को उनके नेता  की याद उनके मन में बनी रहेगी। मार्किटिंग बोर्ड के एक्सईन नवीन दहिया ने बताया कि मेला मंडी में बनने वाले किसान विश्राम गृह में लगभग 72 लाख रूपये की लागत  आएगी।
स्व. घासी राम नैन के पुत्र जोगेन्द्र को सौंपी भाकियू की कमान
किसानों के लिए हमेशा आवाज उठाने वाले स्व. घासीराम नैन ने हमेशा किसानों की आवाज को हर आंदोलन में बुलंद किया, जिसकी बदौलत आज प्रदेश के किसानों की हालत में सुधार हुआ है। इसलिए उनके योगदान को भूलाया नहीं जा सकता। कार्यक्रम के दौरान स्व. घासीराम नैन के वारिस उनके पुत्र जोगेन्द्र नैन को बिनैण खाप के राष्ट्रीय अध्यक्ष नफे सिंह नैन ने पगड़ी पहनाकर भारतीय किसान यूनियन की कमान सौंपी और स्व. घासी राम नैन ने अधूरे कार्यों को पूरा करने के लिए कहा। इस पर पंडाल में मौजूद किसानों ने हाथ उठाकर स्वागत किया।
ये रहे मौजूद:-
कार्यक्रम में राज्यसभा सांसद डीपी वत्स, सुनीता दुग्गल, भाकियू के राष्ट्रीय अध्यक्ष राजेश टिकै त, नफे सिंह नैन, फकीर चंद कालवन, जोगिन्द्र नैन, विधायक पिरथी सिंह नम्बरदार, जियालाल ढूंढ़वा, रघबीर नैन, रणबीर कौर, सीताराम बागड़ी, चतर सिंह मोर, संतोष दनौदा, हरेन्द्र डूमरखा, नसीब दनौदा, विजेन्द्र श्योकंद, गुरनाम नैन, रंगी राम धमतान, होशियार कन्हड़ी, मनदीप चहल, आजाद दूहन, दिलाबाग मोर, रतन सिंह, अशोक दनौदा सहित अनेक अधिकारी व गणमान्य उपस्थित रहे।
2 Comments

2 Comments

  1. Pingback: ถ้วยฟอยล์

  2. Pingback: hack instagram account

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *