Connect with us

Chandigarh

मौसम का बदला मिजाज, गिरेगा पारा

Published

on

सत्यखबर, चढ़ीगढ़

हरियाणा में मौसम परिवर्तनशील बना हुआ है। उमस भरी गर्मी से लोगों को अब राहत मिली है। सोमवार को हिसार में आसमान में काले बादल छाए और ठंडी हवा के झाेंको ने मौसम बदल दिया। धूप व छाव का खेल चलता रहा। रात के तापमान में गिरावट दर्ज की गई है। आने वाले समय में मौसम में और बदलाव होगा और न्यूनतम तापमान और नीचे जाएगा। वहीं दूसरी ओर हरियाणा कृषि विश्वविद्यालय के मौसम विभाग के विभागाध्यक्ष मदन खीचड़ ने बताया कि हरियाणा में 5 सितंबर तक मौसम आमतौर पर परिवर्तनशील रहने की उम्मीद है

मगर 1 सितंबर से 3 सितंबर के बीच कहीं-कहीं गरज चमक व हवाओं के साथ बारिश हो सकती है।इसके साथ ही ऐसे में किसानों को उम्मीद है कि इन दिनों इंद्र देवता मेहरबान होंगे और बरसेंगे। जिन जगहों पर कम बारिश हुई है वहां फसलें खराब होनी शुरू हो गई है। हिसार की बात करें तो बालसमंद और नारनौंद क्षेत्र में कपास की फसल को काफी नुकसान पहुंचा है। बारिश न होने से सफेद मक्खी ने फसलों को तबाह कर दिया है। ऐसे में अब किसानों को बाकि बची फसल के लिए बारिश से काफी उम्मीदें हैं।

 

हरियाणा राज्य में मानसून के दौरान (1जून से 29 अगस्त) तक भारत मौसम विज्ञान विभाग में दर्ज आंकड़ों के अनुसार राज्य में अब तक सामान्य से 2 फिसद कम बारिश दर्ज हुई है। इस दौरान राज्य में सामान्य बारिश 358.9 मिलीमीटर की जगह 350.7 मिलीमीटर बारिश दर्ज हुई है। परन्तु राज्य के ग्यारह जिलों में सामान्य से कम बारिश दर्ज हुई जिनमे मुख्य पंचकूला (-61 फीसद), रोहतक (-51फीसद),भिवानी (-40 फीसद) महेंद्रगढ़ (-36 फीसद), रेवाडी (-26 फीसद), अम्बाला (-21फीसद),हिसार (-13फीसद), जींद (-10 फीसद), पानीपत (-8 फीसद), पलवल(-5 फीसद), यमुनानगर(-2फीसद) और राज्य के बाकी जिलों में सामान्य या अधिक वर्षा आंकी गई है।