Connect with us

Yamuna Nagar

यमुनानगर में देर रात नाबालिग से हुआ गैंग रेप, तीन गिरफ्तार

सत्यखबर, यमुनानगर (सुमित ओबेरॉय) – जठलाना के मोहड़ी गांव में नाबलिग से हुई गैंग रेप की घटना के बाद आज यमुनानगर के एसपी ने घटनास्थल का दौरा किया और पूरे मामले की जानकारी देते हुए प्रेस कॉन्फ्रेंस कर बताया कि इस मामले में पुलिस ने तीन लोगों को गिरफ्तार किया है। और इस केस में […]

Published

on

सत्यखबर, यमुनानगर (सुमित ओबेरॉय) – जठलाना के मोहड़ी गांव में नाबलिग से हुई गैंग रेप की घटना के बाद आज यमुनानगर के एसपी ने घटनास्थल का दौरा किया और पूरे मामले की जानकारी देते हुए प्रेस कॉन्फ्रेंस कर बताया कि इस मामले में पुलिस ने तीन लोगों को गिरफ्तार किया है। और इस केस में चार से अधिक आरोपी भी हो सकते है। पकड़े गए आरोपियों में से दो ने रेप किया है। और बाकी बचे आरोपियों को जल्द ही गिरफ्तार कर लिया जाएगा। दोषियों को किसी कीमत पर नही बक्शा जाएगा।

एसपी राजेश कालिया ने बताया कि बहुत ही घिनोना अपराध किया है। कुछ लोगो ने जठलाना एरिया के मोहड़ी गांव में गैंग रेप की घटना सामने आई थी। जोकि परिवार वालो ने बताया और महिला थाने में शिकायत दी। पुलिस ने विभिन्न धाराओं में तुरन्त एफआईआर की। इसमे जांच शुरू करते हुए 24 घँटे के अंदर ही एक को गिरफ्तार किया है। अब तक इस मामले में तीन लड़के गिरफ्तार किए गए है। जिस प्रकार से शिकायत कर्ता ने दो नाम सहित और दो अन्य के नाम लिखवाए थे जो एफआईआर में है। जांच में सामने आया है कि इस घटना में कुछ और लड़के भी हो सकते है। ये घटना देर रात की है। पीड़िता को इस बात का अंदाज़ा नही है कि बाकी लोग कौन है वो दो लोगो को पहचान पाई! जो अन्य है। उसमें हमने 3 लोगो को गिरफ्तार किया है। बाकी नामजद और अन्य को हम जल्द ही गिरफ्तार कर लेंगे।

एसपी राजेश कालिया ने बताया कि पीड़िता ने जो बयान दिए उस हिसाब से चार लोग बनते है। लेकिन जाँच में ऐसा सामने आ रहा है कि ये 5 लोग आरोपी हो सकते है। क्योंकि तीन हमने अन्य गिरफ्तार कर लिए है। जब हमने एक को गिरफ्तार किया तो उसने बताया कि मेरे साथ दो लड़के और भी थे। वो अन्य में आ गए और क्योंकि ये विषय ऐसा है और रात की घटना है पीड़िता की उम्र 15/16 साल के आसपास है। जो स्कूल से सर्टिफिकेट भी हमने लिया है। उसमें 1 सितंबर 2003 के जन्म बताया गया है। ये बात भी साफ कर देना चाहता हूं कि इस केस को लेकर तरह तरह की अफवाहें भी है मीडिया में भी है क्योंकि ये एक नेशनल न्यूज़ बन चुकी है। कोई भी धर्म जाती का कोई भी एंगल नही गांव में सब कुछ ठीक है मैंने परिवार से भी बात की सब यही चाहते कि जल्द से जल्द सब गिरफ्तार हो परिवार पुलिस कीकारवाई से सन्तुष्ठ है। इस घटना को देश की किसी और घटना से न जोड़ कर देखा जाए तीन आरोपियो को गिरफ्तार किया है जिनमे से दो ने माना कि उन्होंने रेप किया है।

एसपी राजेश कालिया ने सारी बातों को सज्ञान में लेते हुए पुलिस कारवाई कर रही है। पूछताछ की जा रही है। ये बहुत घिनोना कृत्य है ऐसे मामलो को लेकर समाज मे बातचीत भी है। इस केस में पुलिस ने अपनी सारी ताकत झोंक दी है। इसमे तीन आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है। मंदिर परिसर की बात जहाँ तक है तो वहाँ मंदिर भी है चौपाल भी है एक धर्मशाला भी है जो सुनसान है जहाँ उन लोगो ने ऐसा किया। मंदिर में ये घटना नही हुई उसकी बगल में सुनसान जगह को देखकर उन लोगो ने इस घटना को अंजाम दिया। उस जगह को देखकर लगता है कि वहाँ कोई आता जाता नही है।

क्या था पूरा मामला

जिस दिन देश में नाबालिग बच्चियों के साथ बलात्कार करने वाले घिनोने अपराधियों को मौत की सजा देने का कानून बनाया गया, उसी दिन एक और नाबालिग मासूम बच्ची हवस के भूखे भेड़ियों का निवाला बन गई। वारदात यमुनानगर के गांव मोहडी की हैं। जहां एक परिवार ने आरोप लगाया हैं कि जिस रात उनके बच्चे घर पर अकेले थे, उसी रात दो अज्ञात बदमाश उन्हीं के गांव के दो युवकों के साथ उनके घर में घुस आए, और आंगन में सो रही उनकी नाबालिग बच्ची को अगवा कर घर के सामने एक सुनसान कमरे में ले, जहां बच्ची की असमत को तार-तार कर दिया गया।

आरोप यह भी हैं कि दरिंदों ने इनकी बच्ची का सिर दीवार पर मारकर उसे बेहोश कर दिया जिसके बाद वह भाग खड़े हुए। पीड़ित परिवार की माने तो जिस जगह उनकी बच्ची के साथ गलत किया गया, वह एक धर्मशाला रूपी मंदिर के समीप स्थित एक सुनसान कमरा हैं। बहराल पीड़ित बच्ची अपने गुनहगारों के लिए फांसी की सजा की मांग कर रही हैं।

बच्ची ने जब घर आकर अपनी आप बीती परिवार को सुनाई, तो घर वालों के पैरो तले जमीन खिस्क गई। परिवार ने तुरूंत पुलिस से इंसाफ की गुहार लगाई, जिसके बाद से पीड़ित परिवार बेहद डरा और सहमा हुआ हैं, उनकी माने तो आरोपी युवक अभी भी गांव में खुलेआम घूम रहें हैं, कभी उन्हें धमकियां दे रहें है, तो कभी चाकू दिखाकर चुप रहने के लिए डरा रहें हैं।

वारदात के बाद पीड़िता के साथ-साथ उसके दूसरे रिश्तेदार भी आरोपियों के लिए सख्त से सख्त सजा की मांग कर रहें है। उनकी माने तो जिस जगह बच्ची के साथ गलत हुआ वह जगह एक मंदिर के महज चंद कदमों की दूरी पर हैं। ऐसे में जिन लोगों को भगवान का डर भी नहीं हैं, उन्हें मौत की सजा होनी चाहिए, ताकि यह दूसरे अपराधियों के लिए सबक बन जाए।

वहीं दूसरी औऱ पुलिस ने मामले की संजीदगी को देखते हुए, छह-पॉस्को एक्ट के तहत मामला दर्जकर चारो आरोपियों की तलाश शुरू कर दी हैं। अधिकारियों का तर्क हैं कि इस काम के लिए कई टीमों का गठन किया गया हैं, और बहुत जल्द आरोपी जेल की सलाखों के पीछे होंगे।

1 Comment

1 Comment

  1. Pingback: 토토사이트

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *