Connect with us

Assandh

युवा  ऊर्जा व गुरुजनों के ज्ञान से  होगा क्रांति का सूत्रपात: प्रो. चौहान

असन्ध :रोहताश वर्मा युवा शक्ति समाज में क्रांतिकारी परिवर्तनों का आधार बनती है और उस आधार को संवारने वाले सूत्रधार अच्छे शिक्षक होते हैं। हरियाणा ग्रंथ अकादमी के उपाध्यक्ष और निदेशक प्रो. वीरेंद्र सिंह चौहान ने राष्ट्रीय शिक्षक दिवस के उपलक्ष्य में स्थानीय राजकीय कन्या वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय में आयोजित कार्यक्रम में यह टिप्पणी की। […]

Published

on

असन्ध :रोहताश वर्मा
युवा शक्ति समाज में क्रांतिकारी परिवर्तनों का आधार बनती है और उस आधार को संवारने वाले सूत्रधार अच्छे शिक्षक होते हैं। हरियाणा ग्रंथ अकादमी के उपाध्यक्ष और निदेशक प्रो. वीरेंद्र सिंह चौहान ने राष्ट्रीय शिक्षक दिवस के उपलक्ष्य में स्थानीय राजकीय कन्या वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय में आयोजित कार्यक्रम में यह टिप्पणी की। प्रो. चौहान बतौर मुख्य अतिथि विद्यार्थियों द्वारा शिक्षकों के सम्मान में आयोजित समारोह में पधारे थे। खंड शिक्षा अधिकारी और विद्यालय के प्राचार्य महेंद्र सिंह ने समारोह की अध्यक्षता की।
अपने संबोधन में प्रो. चौहान ने कहा कि समाज में बुराई और बुरी शक्तियां हर युग में रही हैं । मर्यादा पुरुषोत्तम श्रीराम का कालखंड हो या योगीराज श्री कृष्ण का जमाना, असामाजिक और आतंकी ताकतों ने हर दौर में अच्छे लोगों को परेशान करने का प्रयास किया। प्रो. चौहान ने कहा कि विध्वंस और समाज विरोधी ताकतों के खिलाफ जब-जब संघर्ष हुआ वह संघर्ष उस दौर के युवाओं की ऊर्जा के आधार पर हुआ। मगर युवा शक्ति को सृजन और संघर्ष का रास्ता दिखाने व उसके लिए सुसज्जित करने वाले गुरुकुलों, विद्यालयों और महाविद्यालयों के गुरुजन ही रहे हैं। गुरु वशिष्ठ, विश्वामित्र, सांदीपनी, चाणक्य व समर्थ रामदास जैसे गुरुजनों के बिना श्री राम, श्री कृष्ण, चंद्रगुप्त और छत्रपति शिवाजी जैसी विभूतियां भारतीय समाज को शायद ही मिल पातीं ।
ग्रंथ अकादमी उपाध्यक्ष ने कहा कि आज देश के सामने जो भी चुनौतियां मुंह बाए खड़ी हैं उनका समाधान नई पीढ़ी की उर्जा से होगा। मगर इस उर्जा को सही दिशा देने के लिए गुरुजनों को भी कुछ क्रांतिकारी संकल्प लेने होंगे। शिक्षकों से मुखातिब होते हुए उन्होंने कहा कि शिक्षक जो बात अपने उपदेश में कहें वह उनके मन और जीवन में भी होनी चाहिए। जब ऐसा होता है तो विद्यार्थी स्वाभाविक रूप से शिक्षक द्वारा दी गई दिशा में चल निकलते हैं। इससे पूर्व विद्यालय परिसर पहुंचने पर आज विद्यालय की कमान संभाल रही छात्राओं ने प्रोफेसर चौहान व अन्य गणमान्य अतिथियों का तिलक लगाकर भारतीय पद्धति से स्वागत किया। छात्राओं ने कविता एवं भाषणों के माध्यम से शिक्षक दिवस के महत्व पर चर्चा की। अपने अध्यक्षीय संबोधन में खंड शिक्षा अधिकारी एवं प्राचार्य महेंद्र सिंह ने कहा कि शिक्षकों को हर दिन और अच्छे शिक्षक बनने का प्रयास करना है तथा विद्यार्थियों को प्रतिपल और बेहतर विद्यार्थी होने के लिए प्रतिपल पुरजोर मेहनत करनी पड़ेगी। उन्होंने कार्यक्रम में पधारने और विद्यार्थियों तथा शिक्षकों को संबोधित करने के लिए ग्रंथ अकादमी उपाध्यक्ष प्रो. वीरेंद्र सिंह चौहान का आभार जताया। कार्यक्रम में मेंटेनेंस ट्रिब्यूनल के सदस्य डॉ. बूटी राम, भारत स्वाभिमान के खंड प्रभारी और समाजसेवी एडवोकेट नरेंद्र शर्मा व असंध नगरपालिका के पूर्व अध्यक्ष हरि कृष्ण अरोड़ा , अध्यापक अमरजीत कौर , पीजीटी पंजाबी, अध्यापक सुरेश कुमार, पीजीटी गणित ,अध्यापक रविंदर कुमार , मदन लाल शास्त्री, हरिराम शास्त्री ,अध्यापक सरबजीत सिंह ,पंजाबी , अध्यापक सुनीता, अर्थशास्र, अध्यापक संतोष ,राजनीतिकशास्र आदि भी उपस्थित रहे।
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *