Connect with us

Chandigarh

योजना : सरकारी स्कूलों में 2 माह के लिए सेवानिवृत्त अध्यापकों की इसी माह होगी नियुक्ति, पोर्टल से मांगे आवेदन

Published

on

सत्यखबर

चंडीगढ़: प्रदेश के सीनियर सेकंडरी स्कूलों में अब सेवानिवृत्त अध्यापकों की नियुक्ति की जाएगी। इन्हें दो माह की अवधि के अंदर 11वीं तथा 12वीं कक्षा के विद्यार्थियों को पाठयक्रम पूरा करने की जिम्मेदारी सौंपी जाएगी। हरियाणा प्रदेश सरकार ने इन अध्यापकों की भर्ती की मंजूरी दे दी है और पोर्टल के जरिए ऑनलाइन आवेदन मांगे गए हैं।

मुख्यमंत्री मनोहर लाल – पॉप गायिका रेहाना और ग्रेटा ने जो ट्वीट किया है, वह निंदनीय है

योजना के सफल रहने के बाद आगामी शिक्षा सत्र में इस योजना का विस्तार किया जा सकता है। शिक्षा निदेशालय ने इस संबंध में प्रदेश के सभी जिला शिक्षा अधिकारियों को निर्देश जारी कर दिए हैं। कोरोना के चलते सरकारी स्कूलों में विद्यार्थियों का सिलेबस पूरा नहीं हो सका है। शिक्षा विभाग के इस प्रस्ताव को सीएम मनोहर लाल पहले ही मंजूर कर चुके हैं।

सभी जिला शिक्षा अधिकारी व स्कूल मुखियाओं को जारी निर्देशों में कहा है कि वह सेवानिवृत्त प्राध्यापकों की नियुक्ति करने से पहले विभाग की पॉलिसी का अवलोकन कर लें। पॉलिसी में दिए गए नियमों के हिसाब से उनकी नियुक्ति करें। इस बारे में कोई अनियमितता बर्दाश्त नहीं होगी।

ये अध्यापक किसी तरह की विभागीय बैठक व सेमिनार में भाग नहीं लेंगे। केवल शैक्षणिक कार्य करेंगे। केवल उन्हीं सेवानिवृत्त प्राध्यापकों को मानदेय दिया जाएगा। इनका कार्यग्रहण ऑनलाइन होगा। ऑफलाइन कार्यग्रहण करने वाले को किसी तरह का कोई मानदेय नहीं दिया जाएगा। शिक्षक के कार्य का अवलोकन स्कूल मुखिया करेगा और उस पर अपने कमेंट भी दर्ज करेगा।

30 अप्रैल तक होंगी अध्यापकों की सेवाएं

इन अध्यापकों की सेवाएं 30 अप्रैल तक मान्य रहेंगी और इनकी नियुक्ति के अधिकार संबंधित स्कूल मुखिया को दिए गए हैं। सेवानिवृत्त अध्यापक का पूरा रिकाॅर्ड विभाग के पोर्टल पर रहेगा, लेकिन उन्हें मानदेय की जिम्मेदारी भी स्कूल मुख्याध्यापक की होगी। स्कूल के मुख्याध्यापक को रिक्त पदों के आधार पर सेवानिवृत्त प्राध्यापक रखने की छूट दी है। अध्यापक एक माह में बच्चों का सिलेबस पूरा करवाएंगे और दूसरे माह के दौरान दोहराई करवाएंगे, ताकि परीक्षा में बैठते समय बच्चों को कोई दिक्कत न आए।

अब सेवानिवृत्त अध्यापकों के माध्यम से जल्द से जल्द उनका सिलेबस पूरा करवाया जाएगा। इनकी सेवाएं सीमित समय के लिए होंगी -कंवर पाल, शिक्षा मंत्री हरियाणा।