Connect with us

Haryana

राखी के डंपर बने ग्रामीणों के लिए आफत, ग्रामीणों को सुबह शाम दो वक्त करनी पड़ती है मुख्य सड़क साफ

सत्यखबर मतलौडा (राजीव शर्मा) – थर्मल की राखी झील से राखी लोड कर दूसरे स्थानों पर ले जाने वाले डंपर ग्रामीणों के लिए आफत बन चुके हैं। डंपर चालकों की मनमानी के कारण सड़क पर राखी के ढेर जमा हो जाते हैं। उल्लेखनीय है कि थर्मल के कोयले के जलने के बनने वाली राख की […]

Published

on

सत्यखबर मतलौडा (राजीव शर्मा) – थर्मल की राखी झील से राखी लोड कर दूसरे स्थानों पर ले जाने वाले डंपर ग्रामीणों के लिए आफत बन चुके हैं। डंपर चालकों की मनमानी के कारण सड़क पर राखी के ढेर जमा हो जाते हैं। उल्लेखनीय है कि थर्मल के कोयले के जलने के बनने वाली राख की थर्मल के पास में ही झील बनी हुई है। यहां से लोग कोयले की राखी दूसरे स्थानों पर लेकर जाते हैं। डंपर चालकों की मनमानी इतनी हद तक बढ़ गई है कि डंपर चालक डंपर में राख भरने के बाद उसके ऊपर न तो पानी का छिड़काव करते और इसके उपर तिरपाल भी नहीं ढ़कते।

ऊपर तिरपाल ना लगने के कारण डंपर के चलने के बाद उपर से राख उड़ती रहती है। कई बार तो इन के पीछे चलने वाले बाइक सवार आंखों में राख घुसने के कारण सड़क पर गिरकर घायल भी हो चुके हैं। गांव ऊंटला वासी दीपू मराठा, अजय, श्याम मराठा, समशेर मराठा, जस्सु, जयबीर व अनिल आदि ने बताया कि गांव का सरकारी स्कूल मुख्य सड़क पर ही है। धूल का गुबार पूरा दिन स्कूल में उड़ता रहता है जिससे बच्चों की पढ़ाई में भी बाधा आती है और बच्चों को चर्म रोग, सांस व आंखों की बिमारियां होने लग गई हैं। ग्रामीणों ने बताया कि वह कई बार डंपर चालकों को तिरपाल लगाने के लिए बोल चुके हैं।

लेकिन वो नहीं मानते। ग्रामीणों ने आरोप लगाया कि ये सभी डंपर रास्ते में पड़ने वाले थर्मल चौकी पुलिस नाके से होकर गुजरते हैं। लेकिन स्थानीय पुलिस भी इनको कुछ नहीं कहती। ग्रामीणों को सुबह शाम दोनों समय अपने आप ही सड़क से राखी के ढेर हटाने पढ़ते हैं। ग्रामीणों ने बताया कि वो जल्द ही इसकी शिकायत जिला उपायुक्त को देंगे।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *