Connect with us

Fatehabad

रामलीला में लक्ष्मणरेखा का किरदार निभाते हुए झुलसा 12 वर्षीय बच्चा, जानें कैसे हुआ हादसा

Published

on

सत्यखबर जाखल (दीपक) – रामलीला के दौरान रावण दहन को लेकर पिछले वर्ष अमृतसर पंजाब में हुई भयानक दुर्घटना से अभी भी प्रशासन कोई सबक नहीं ले रहा। दशहरा पर्व से पूर्व जहां श्रद्धालुओं को जागृत करने व श्री राम की ओर से बुराई रूपी रावण का अंत कैसे हुआ दिखाने के लिए महानगरों से लेकर छोटे शहरों तक जगह-जगह रामलीलाओं का आयोजन किया जाता है। लेकिन यहां पर स्टंट करने वाले कलाकारों को न है तो कोई प्रशिक्षण दिया जाता है और ना ही ऐसे भारी इकट्ठा के दौरान सुरक्षा के लिहाज से कोई सुरक्षा के ही प्रबंध किए होते हैं। ऐसे में दुर्घटनाएं होना स्वाभाविक है।

ऐसी ही एक घटना जाखल की रेलवे कॉलोनी में आयोजित की जा रही रामलीला में सीता हरण के एक दृश्य के दौरान आग लगने से एक 12 वर्षीय बच्चा गंभीर रूप से झुलस गया। रामलीला आयोजन कमेटी सदस्यों ने बच्चे को तुरंत जाखल के पहले एक निजी अस्पताल में भर्ती करवाया लेकिन चिकित्सकों ने उसकी हालत को गंभीर देखते हुए उसे टोहाना रेफर कर दिया। जिसके बाद उसे टोहाना ले जाया गया लेकिन वहां से उसे बेहतर इलाज के लिए जिंदल अस्पताल हिसार ले जाया गया है। जहां बच्चा उपचार चल रहा है फिलहाल चिकित्सकों ने उसकी हालत को खतरे से बाहर बताया है।

जाखल के रेलवे कॉलोनी में श्रीराम रेलवे ड्रामाटिक क्लब की ओर से रामलीला का आयोजन किया जा रहा है। शनिवार रात को रामलीला के दौरान सीता हरण का दृश्य फिल्माया जाना था। जिस दौरान जैसे ही सीता हरण से पहले लक्ष्मण ने अपना रोल अदा करते हुए लक्ष्मणरेखा खींचते हुए दृश्य दिखाया तो मंच पर एक लकीर खींच कर उस पर डीजल गिराते हुए लक्ष्मणरेखा जलते हुए दिखाए जाने का प्रयास किया गया। लेकिन जैसे ही लक्ष्मणरेखा केरोसिन के तेल के साथ जलने लगी तो जिस बोतल में केरोसिन रखा हुआ था उसने आग पकड़ ली। जिस पर यह दृश्य करते समय लक्ष्मण बने युवक ने बोतल को एक तरफ फेंक दिया जिससे बोतल में लगी आग मंच पर लगे पर्दे तक पहुंच गई और पर्दे ने आग पकड़ ली पर्दे पर आग लगा देख पंडाल में तुरंत अफरा-तफरी मच गई।

जिसके कारण वहां पर डांसर पार्टी के साथ आए एक 12 वर्षीय बच्चे अनुज पुत्र कृष्ण उसकी चपेट में आ गया और बुरी तरह आग से झुलस गया। बताया जाता है कि जाखल मंडी की धानक बस्ती निवासी अनुज अपने पिता कृष्ण के साथ रामलीला में आया हुआ था जहां उसका पिता कृष्ण ढोलकी बजाने का काम करता था। बच्चे को आग से झुलसा देख आयोजकों ने तुरंत उसे संभाला और उसे उपचार के लिए एक निजी अस्पताल में भर्ती करवाया जहां प्राथमिक उपचार के उपरांत उसे रेफर कर दिया गया बच्चे की हालत को देखते हुए रामलीला आयोजक उसे तुरंत टोहाना उसके बाद हिसार के जनरल अस्पताल में ले गए हैं।

रामलीला आयोजक कमेटी के मंच सचिव मास्टर पवन ने बताया कि बच्चे की हालत ठीक है उसका रामलीला कमेटी की ओर से उपचार करवाया जा रहा है। बच्चा अपने पिता के साथ रामलीला में मंच पर आया हुआ था जहां उसका पिता ढोलकी जाता था। जिसे कई बार वहां से जाने के लिए भी कहा गया था लेकिन वह अपने पिता के पास रुकने के लिए आया हुआ था। हादसा ज्यादा बड़ा नहीं है। बच्चे की हालत ठीक है।

इस बारे में जब जाखल थाना प्रभारी अवतार सिंह से बात की गई तो उन्होंने बताया कि इसके बारे में उनको कोई सूचना नहीं मिली आज सुबह ही उनके पास रुका आया है तत्पश्चात कार्रवाई के लिए हेड कांस्टेबल भूपेंद्र सिंह को हॉस्पिटल में भेज दिया गया है। उन्होंने बताया की विधानसभा चुनाव होने के कारण उनके पास पर्याप्त कर्मचारी नहीं है फिर भी क्षेत्र में जगह-जगह रामलीला को लेकर पीसीआर के माध्यम से लगातार गश्त की जा रही है।

दुर्घटना को लेकर जब रामलीला संचालक बलवीर बागड़ी से बात की गई तो उन्होंने बताया की रामलीला कमेटी की ओर से सुरक्षा के पूरे इंतजाम किए हुए थे परंतु इत्तेफाक से लक्ष्मणरेखा किरदार के समय डांसर पार्टी के साथ आए पास बैठा एक बच्चा आग की चपेट में आ गया था जिसको इलाज के लिए टोहाना के बाद जिंदल हॉस्पिटल में ले जाया गया है जिसका इलाज कमेटी की ओर से करवाया जा रहा है।