Connect with us

Kurukshetra

रैली में भाकियू के प्रदेशाध्‍यक्ष चढूनी पहुंचे, बोले- सरकार वादा भूली

Published

on

सत्यखबर, कुरुक्षेत्र

किसानों के अड़ने पर प्रशासन झुका और आखिर में पिपली अनाज मंडी में रैली करने की परमिशन दी। किसानों ने परमिशन मिलते ही रैली स्थल पर पहुंचना शुरू कर दिया। भाकियू के प्रदेशाध्यक्ष गुरनाम सिंह चढूनी रैली स्थल पर पहुंचे। उन्होंने किसानों का आभार व्यक्त किया और तीनों अध्यादेशों को किसान व मंडी विरोधी बताया।गुरुनाम सिंह ने कहा कि सरकार किसानों की आवाज दबाना चाहती है। भाजपा ने चुनाव के समय स्वामीनाथन आयोग की रिपोर्ट को लागू करने की कही थी, लेकिन सरकार अपना वायदा भूल गई है। अब लॉकडाउन के बीच केंद्र की भाजपा सरकार तीन अध्यादेश लेकर आई है। ये तीनों अध्यादेश किसान और मंडी को खत्म करने वाले हैं।

पिपली अनाजमंडी में भारतीय किसान यूनियन की रैली में पहुंचने से पहले किसानों को पिपली चौक पर रोक लिया गया। उन्‍हें वापस जाने को कहा, लेकिन वे नहीं मानें। आगे बढ़ने पर पुलिस ने हल्‍का लाठीचार्ज करके लोगों को खदेड़ा। इसके बाद कुछ लोगों को हिरासत में भी ले लिया।किसानों ने पुलिस के ढीला पड़ते ही पिपली चौक को छोड़कर जीटी रोड पर दूसरी तरफ जाम लगा दिया। पुलिस पिपली चौक पर उलझी रही। लाठीचार्ज के बाद वापस गए किसानों ने जीटी रोड पर जाम लगा दिया। इससे फ्लाईओवर से भी वाहनों की आवाजाही रुक गई है। वहीं, पुलिस बल अब आंसू गैस की तैयारी कर रही है।

भाकियू के प्रेस प्रवक्ता राकेश बैंस को गिरफ्तार किया गया। उन्‍हें शरीफगढ़ से गिरफ्तार किया गया। किसानों को बसों में पुलिस ने बैठाकर हिरासत में लिया। ई बाद में किसानों को थाना प्रभारी भीम राज शर्मा ने रोक दिया। वहीं चोर रास्तों से पिपली अनाज मंडी में 15 किसान पहुंच गए।किसान बचाओ-मंडी बचाओ रैली में पहुंचे किसान पुलिस लाठीचार्ज पर उग्र हो गए। पिपली चौक पर कुछ किसानों ने पुलिस पर पत्थर फेंक दिए और जीटी रोड पर जाम लगा दिया। किसानों करीब 10 मिनट तक जाम लगाए बैठे रहे। एसपी आस्था मोदी मौके पर पहुंची। पुलिस ने लाठीचार्ज कर किसानों को खदेड़ा। इधर कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पूर्व मंत्री अशोक अरोड़ा और लाडवा से कांग्रेस के विधायक मेवा सिंह अनाज मंडी गेट पर पहुंचे। दोनों गाड़ी में पहुंचे थे। करनाल की तरफ से पांच-छह ट्रालियों में पहुंचे किसान ईंट रोड़े लेकर पहुंचे थे। पुलिस ने बल प्रयोग करना चाहा तो किसानों ने पुलिस पर लाठीचार्ज करने पर पथराव शुरू कर दिया।

 

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *