Connect with us

Haryana

रोडवेज कर्मचारियों की हड़ताल के समर्थन में आये कई विभाग के कर्मचारी व छात्र

सत्यखबर, नरवाना (सन्दीप श्योरान) :- रोडवेज कर्मचारियों की 720 निजी बसों के परमिट रद्द करने की मांग को लेकर हड़ताल 7वें दिन में प्रवेश कर गई। रोडवेज कर्मचारियों की मांगों को लेकर विभिन्न विभागों के कर्मचारी व छात्र समर्थन में उतर आये हैं। जिस कारण सरकार के लिए मुश्किल होती नजर आ रही है। रोडवेज […]

Published

on

सत्यखबर, नरवाना (सन्दीप श्योरान) :- रोडवेज कर्मचारियों की 720 निजी बसों के परमिट रद्द करने की मांग को लेकर हड़ताल 7वें दिन में प्रवेश कर गई। रोडवेज कर्मचारियों की मांगों को लेकर विभिन्न विभागों के कर्मचारी व छात्र समर्थन में उतर आये हैं। जिस कारण सरकार के लिए मुश्किल होती नजर आ रही है। रोडवेज विभाग के कर्मचारियों की हड़ताल को मिल रहे जन-समर्थन को देखते हुए खुफिया विभाग भी सतर्क हो गया है और पल-पल की जानकारी उच्च अधिकारियों को पहुंचा रहे हैं।

इसके साथ पुलिस विभाग के कर्मचारियों की भी ड्यूटी लगाई गई है, ताकि कोई भी अनहोनी न हो। सोमवार को बिजली विभाग, शिक्षा विभाग, बीडीपीओ कार्यालय, उझाना ब्लॉक एसोसिएशन, ग्राम सचिव, एनएसयूआई, केवाईएस छात्र संगठन, नौजवान भारत सभा, सहकारी परिवहन समिति, डीवाईएफआई, यूथ फॉर चेंज आदि ने रोडवेज कर्मचारियेां को अपना समर्थन दिया। सहकारी परिवहन समिति के प्रदेशाध्यक्ष दलबीर मोर ने कहा कि प्रदेश सरकार जनता के हितों को ध्यान में न रखते हुए केवल कुछ पूंजिपतियों का ही ध्यान रख रही है। जिसका खामियाजा आगामी पीढ़ी को भुगतने पड़ेगा। उन्होंने कहा कि एक रोडवेज बस आने से 7 व्यक्तियों को रोजगार मिलता है, लेकिन उसमें केवल दो व्यक्तियों को ही रोजगार मिलेगा।

उनका इस बात का ही विरोध है, क्योंकि इससे पढ़े-लिखे युवाओं को रोजगार नहीं मिल पायेगा। हरियाणा कर्मचारी महासंघ के जिला प्रधान कृष्ण नैन ने कहा कि बिजली विभाग हर कदम पर रोडवेज विभाग के साथ खड़ा है। अगर सरकार ने उनकी मांग को स्वीकार नहीं किया तो बिजली कर्मचारी रोडवेज कर्मचारियों के समर्थन में ब्लैक आउट जैसा कदम उठा सकती है। जिसकी जिम्मेवारी सरकार की होगी। इस अवसर पर कृष्ण नैन, दलबीर मोर, रामफल नैन, जंगीर मोर, देवेन्द्र मंटा सरपंच, गोविन्द, सुभाष, रणधीर ग्रोवर, वीरेन्द्र, कुलदीप, प्रदीप शर्मा, मा. बलबीर सिंह आदि मौजूद थे।