Connect with us

Chandigarh

विजयदशमी पर हरियाणा के युवाओं के हित में जेजेपी की पहली जीत – दुष्यंत चौटाला

Published

on

सत्यखबर चंडीगढ़ (ब्यूरो रिपोर्ट) – हरियाणा सरकार द्वारा बिजली निगम की एसडीओ भर्ती पर बड़ा यू-टर्न लेते हुए भर्ती रद्द करने पर जननायक जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता एवं पूर्व सांसद दुष्यंत चौटाला ने इसे विजयदशमी पर प्रदेश के युवाओं के हित में जेजेपी की पहली जीत बताई है। दुष्यंत चौटाला ने चंडीगढ़ से प्रेस विज्ञप्ति जारी करते हुए कहा कि हरियाणा सरकार ने प्रदेश के युवाओं के साथ बड़ा धोखा करते हुए बिजली निगम में एसडीओ की भर्ती के जरिए सामान्य वर्ग में 80 में से सिर्फ 2 ही हरियाणा निवासी को शॉर्टलिस्ट किया था। दुष्यंत चौटाला ने कहा कि इस भर्ती का जननायक जनता पार्टी ने पूरजोर विरोध किया था, जिसके बाद अब हरियाणा सरकार ने अपने फैसले पर यू-टर्न लेते हुए बिजली निगम ने भर्ती रद्द करने का आदेश जारी किया है जो कि हरियाणा के काबिल युवाओं की जीत है।

दुष्यंत चौटाला ने हरियाणा में रोजगार पर सबसे पहले हरियाणवी युवाओं का हक बताते हुए कहा कि जेजेपी प्रदेश के युवाओं के साथ कभी धोखा नहीं होने देगी। दुष्यंत ने कहा कि केवल एक भर्ती को इस तरह से रद्द करने से प्रदेश के युवाओं के साथ न्याय नहीं होने वाला है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में बेरोजगारी खत्म करने के लिए हरियाणा की नौकरियों में 75 प्रतिशत केवल प्रदेश के युवाओं को रोजगार देना होगा।

दुष्यंत चौटाला ने कहा कि पांच वर्षो तक भाजपा सरकार ने बड़ी-बड़ी प्राइवेट कंपनियों के साथ मिलकर बाहरी लोगों को रोजगार देने में ज्यादा तवज्जो दिया जबकि हरियाणा के युवा नौकरियों के लिए बसों में दर-दर की ठोकरें खाते रहे। यहां तक कि हाल ही में हुई क्लर्क भर्ती के लिए 8 बच्चों को परीक्षा के दौरान अपनी जान से हाथ धोना पड़ा।

दुष्यंत ने कहा कि लगातार जेजेपी द्वारा मांग करने के बाद भी भाजपा सरकार प्राइवेट क्षेत्र में 75 प्रतिशत हरियाणवी युवाओं का रोजगार कोटा निर्धारित न करके प्रदेश के युवाओं का हक दाबे बैठी रही जो कि सरासर हरियाणवी युवाओं के साथ अन्याय था। उन्होंने कहा कि राजधानी दिल्ली से लगते हरियाणा के गुरुग्राम, फरीदाबाद, सोनीपत जैसे जिलों में बड़ी-बड़ी निजी कंपनियां है लेकिन उनमें प्रदेश के युवाओं को नौकरी देने में भेदभाव किया जा रहा है और इन कंपनियों में प्रदेश के युवाओं को रोजगार दिलाने के लिए भाजपा सरकार ने कोई उचित कदम नहीं उठाया।

दुष्यंत चौटाला ने प्रदेश के युवाओं से वादा करते हुए कहा कि जेजेपी सरकार आने पर प्रदेश में युवाओं के लिए “रोजगार मेरा अधिकार” कानून लेकर आएगी जिससे हर हाथ को काम की गारंटी होगी और हरियाणा की नौकरियों पर 75 प्रतिशत केवल हरियाणवी युवाओं का हक होगा। वहीं उन्होंने कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों में रोजगार के समान अवसर प्रदान करने की दृष्टि से जेजेपी की सरकार बनने पर ग्रामीण क्षेत्र के विद्यार्थियों को नौकरियों में 10 अंकों का अतिरिक्त लाभ दिया जाएगा। सरकारी नौकरियों व प्रतियोगी परीक्षाओं के आवेदन के लिए बेरोजगारों से वर्ष में केवल एक बार 100 रूपये फीस ली जाएगी और उनके परीक्षा केंद्र गृह जिलों में स्थापित होंगे।

दुष्यंत चौटाला ने प्रदेश में बढ़ी बेरोजगारी को लेकर भाजपा सरकार को जिम्मेदार ठहराया। उन्होंने कहा कि सक्षम युवाओं को चौकीदार बनाकर सरकार रोजगार देने का ढ़ोंग कर रही है लेकिन वास्तव में ग्रुप-डी के जरिए नौकरी लगे युवा आज अपनी नौकरियां छोड़कर भाग रहे है और इसके लिए केवल भाजपा सरकार जिम्मेदार है।