Connect with us

Haryana

विद्यारानी दनौदा ने अनाज मंडी का दौरा कर सुनी आढ़तियों व किसानों की समस्याएं

Published

on

सत्यखबर, नरवाना (सन्दीप श्योरान) :-

महिला कांग्रेस की प्रदेश उपाध्यक्ष विद्या रानी दनौदा ने नरवाना की अनाज मंडी का दौरा किया। जिसमें उन्होंने किसानों और व्यापारियों की समस्याओं को सुना। उन्होंने प्रदेश सरकार कटाक्ष करते हुए कहा कि जिस समय प्रदेश में भूपेन्द्र सिंह हुड्डा के नेतृत्व में कांग्रेस की सरकार थी, तो उस समय धान 1121 3800 से 4000 रूपये प्रति किंवटल बिकती थी। जबकि 1509 के भाव लगभग 3500 रूपये प्रति किवंटल थे। आज उसी किसान की धान 1121 का भाव 2300 से 2500 रूपये प्रति किंवटल, जबकि 1509 धान 2000 हजार रूपये प्रति किंवटल पर पीट रही है। जबकि प्रदेश सरकार किसान की आमदनी को दोगुणा करने का दम भरती है। अब किसान जाए तो जाए कहां। उन्होंने कहा कि पिछले पांच सालों में 1 हजार रूपये वाला डीएपी खाद का बैग 1200 रूपये का हो गया है। वहीं यूरिया के दाम जस के तस खड़े है और 5 किलोग्राम खाद प्रति बैग कम कर दिया गया है। पैस्टीसाईड पर 5 और 18 प्रतिशत जीएसटी लगाकर किसानों को आत्महत्या करने के लिए मजबूर कर रही है। एक तरफ सरकार कहती है कि पीआर धान का एक-एक दाना खरीदा जायेगा, वहीं दूसरी तरफ मंडियों की सड़कों पर किसानों की धान सड़ रही है। क्योंकि पीआर धान के खरीददार मंडियों से गायब हो चुके हैं। इसके अलावा किसान की कपास की औने पौने दामों में खरीदी जा रही है। विद्या रानी ने कहा कि व्यापारियों को 72 घंटे के भीतर भुगतान करने का ढिंढोरा पिटने वाली सरकार भुगतान में कई-कई दिन की देरी कर रही है। सरकार से मांग करते हैं कि तुुरंत प्रभाव से व्यापारियों की पेमैंट की जाए और किसानों की फसल धान व कपास को उचित दामों पर खरीदा जाए। इस मौके पर मंडी प्रधान जयदेव बंसल, देवीराम गर्ग, सज्जन सिंगला, जिया लाल गोयल, कृष्ण, बलवंत, दिलबाग लोन, विनोद मंगला, सुभाष सिंगला, राजपाल बनवाला, महेन्द्र गोयल, जयभगवान शर्मा, प्रवीण दनौदा सहित किसान व व्यापारी मौजूद रहे।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *