Connect with us

Safidon

शहीदों की शहादत को राष्ट्र कभी नहीं भुला सकता – अजीत सिंह शेखावत

Published

on

सत्यखबर सफीदों

उपमंडल के गांव सिंघाना में रविवार को शहीद चौंक का लोकार्पण, रक्तदान शिविर व पौधारोपण कार्यक्रम आयोजन किया गया। कार्यक्रम में मुखतिथि आईपीएस अजीत सिंह शेखावत व अति विशिष्टातिथि बीडीपीओ कीर्ति सिरोहीवाल रही। वहीं विशिष्टातिथि के रूप में पंचायती राज के एस.डी.ओ. कृष्ण पाटिल ने शिरकत की। कार्यक्रम की अध्यक्षता सरपंच एसोसिएशन के प्रदेशाध्यक्ष सुरेंद्र राणा ने की। अतिथियों ने रीबन काटकर शहीद चौंक का लोकार्पण व रक्तदान शिविर का उद्घाटन किया। इसके अलावा गांव के मंदिर प्रांगण में पौधारोपण भी किया।

हरियाणा बिजली मंत्री रणजीत सिंह भी हुए कोरोना संक्रमित

रक्तदान शिविर लोगों ने बढ़-चढक़र रक्तदान किया। अतिथियों ने रक्तदाताओं को बैज व प्रमाण पत्र देकर सम्मानित किया। वहीं सरपंच सुरेंद्र राणा ने आए हुए अतिथियों को स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया। गौरतलब है कि इस शहीद चौंक पर भगत सिंह, सुखदेख्व व राजगुरू की आदमकद प्रतीमाएं लगाई गई। अपने संबोधन में आईपीएस अजीत सिंह शेखावत ने कहा कि शहीदों की शहादत एवं बलिदान को राष्ट्र कभी भुला नहीं सकता। भगत सिंह, राजगुरु और सुखदेव भारत के वे सच्चे सपूत थे, जिन्होंने अपनी देशभक्ति और देशप्रेम को अपने प्राणों से भी अधिक महत्व दिया और मातृभूमि के लिए प्राण न्यौछावर कर गए। आजादी को पाने में संघर्ष की लंबी गाथा रही है।

सोमवार और मंगलवार को भी खुल सकेंगे बाज़ार, लॉक डाउन का आदेश लिया वापिस

आजादी के लिए अपना बलिदान देने वाले शहीदों से प्रेरणा लेकर आज की युवा पीढ़ी को देश के प्रति अपने कर्तव्य को समझना होगा। वहीं बीडीपीओ कीर्ति सिरोहीवाल ने कहा कि आज विज्ञान बहुत सक्षम हो चुका है और तरह-तरह की दवाएं व वैक्सीन बन चुकी है लेकिन जिंदा रहने के लिए सबसे ज्यादा जरुरी रक्त है जिसका कोई विकल्प विज्ञान नहीं बना पाया है। खून की कमी को केवल ब्लड डोनेशन के द्वारा ही पूरा किया जा सकता है। रक्तदाता द्वारा दान की गई एक-एक रक्त की बूंद किसी जरूरतमंद के लिए बेहद कीमती होती है। लोगों खासकर युवाओं को चाहिए कि वे रक्तदान करने में अपनी महत्वपूर्ण भागीदारी प्रदान करें।