Connect with us

Haryana

सफीदों मे नहीं हो पा रही पीआर धान की खरीद

स्टेट वेयरहाऊस का कोटा पूरा, खाद्य निगम से बंधी उम्मीद सत्यखबर सफीदों ( महाबीर मित्तल ) :- सफीदों की अनाज मण्डी मे पीआर किश्म की धान की खरीद समुचित तरीके से नहीं हो पा रही है और मंडी में पड़ी हुई हजारों किवंटल धान बिकने का इंतजार कर रही है। पीआर धान को खरीदने वाली […]

Published

on

स्टेट वेयरहाऊस का कोटा पूरा, खाद्य निगम से बंधी उम्मीद
सत्यखबर सफीदों ( महाबीर मित्तल ) :- सफीदों की अनाज मण्डी मे पीआर किश्म की धान की खरीद समुचित तरीके से नहीं हो पा रही है और मंडी में पड़ी हुई हजारों किवंटल धान बिकने का इंतजार कर रही है। पीआर धान को खरीदने वाली एजेंसी हरियाणा स्टेट वेयरहाऊसिंग कार्पोरेशन ने हाथ खड़े कर दिए है और इस एजेंसी के प्रतिनिधि ने मार्किट कमेटी सचिव को स्पष्ट कर दिया कि उनका खरीद कोटा पूरा हो गया है। वहीं कई दिन तक खरीद से दूर रही भारतीय खाद्य निगम के प्रतिनिधि सुजय धनखड ने फोन पर बताया कि निगम द्वारा धान की खरीद की जाएगी। उन्होने कहा कि माना कि उनकी निगम ने वेयरहाऊसिंग कार्पोरेशन के मुकाबले यहां से धान कम खरीद है लेकिन धान खरीद के मामले मे कोई कोटा निर्धारित नहीं होता, उपलब्धता एवम मानकों पर खरी जिन्स को खरीदना ही होता है।

धनखड ने बताया कि कुछ कच्चा आढ़ती हेराफेरी कर निर्धारित मात्रा से अधिक नमी की धान बोरियों मे भर रहे थे। उन्होने बताया कि निगम के गौदाम मे भी गुणवत्ता की चैकिंग की जाती है और ऐसी एजैंसियों से खरीदी धान की चार ट्रालियों को निगम के गोदाम से वापस भी लौटाया गया था और इसी कारण खरीद मे विलम्ब हुआ लेकिन अब सुधार है। हालत यह है कि इस अनाजमण्डी मे अनेक किसानों की पीआर किश्म की धान पिछले पखवाडे भर से पडी है किसान रोज मण्डी आते है और निराश लौट जाते हैं। डीसी व एसडीएम के निर्देशों के बावजूद धान खरीद की प्रक्रिया को यूं ठप्प कर दिया गया है जैसे मण्डी मे आवक की सारी की सारी धान मे निर्धारित मात्रा से अधिक नमी हो या किन्ही कारणों से मानकों पर खरी ना उतरती हो। सफीदों मार्किट कमेटी के सचिव दीपक कुमार ने बताया कि पीआर धान की नियमित खरीद शुरू होने की उम्मीद है। उन्होने बताया कि मण्डी मे करीब दस हजार क्विंटल धान बिकने को पडी है।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *