Connect with us

Chandigarh

सरकार की गलत नितियों, जीएसटी व नोट बंदी लागू करने से आर्थिक विकास का झटका लगा है – बजरंग गर्ग

सत्यखबर चण्डीगढ़ (ब्यूरो रिपोर्ट) – हरियाणा प्रदेश व्यापार मंडल के प्रांतीय अध्यक्ष व अखिल भारतीय व्यापार मंडल के राष्ट्रीय महासचिव बजरंग गर्ग ने व्यापार मंडल की टीम का प्रदेश व जिला स्तर पर विस्तार करते हुए नए पदाधिकारियों की घोषणा की। जिसमें व्यापार मंडल प्रदेश महासचिव केवल सिंह खरबंदा, प्रदेश उपप्रधान राजेश सेठ यमुनानगर, प्रदेश […]

Published

on

सत्यखबर चण्डीगढ़ (ब्यूरो रिपोर्ट) – हरियाणा प्रदेश व्यापार मंडल के प्रांतीय अध्यक्ष व अखिल भारतीय व्यापार मंडल के राष्ट्रीय महासचिव बजरंग गर्ग ने व्यापार मंडल की टीम का प्रदेश व जिला स्तर पर विस्तार करते हुए नए पदाधिकारियों की घोषणा की। जिसमें व्यापार मंडल प्रदेश महासचिव केवल सिंह खरबंदा, प्रदेश उपप्रधान राजेश सेठ यमुनानगर, प्रदेश सचिव राम कुमार बंसल कैथल, राजेश सिंगला कुरुक्षेत्र, प्रदेश सहसचिव उपेंद्र गर्ग नरवाना, बलवान सिंह एडवोकेट दादरी, प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य कुलवंत कालरा करनाल, नरेंद्र कुमार गर्ग, राजकुमार गर्ग पुंडरी, संजय कुमार सिंगला भट्टू मंडी, आनंद मित्तल अग्रोहा, अनूप गुप्ता आटो मार्केट हिसार, प्रो. डीके जैन पंचकुला को बनाया गया है।

जिसमें अंबाला जिला प्रधान नीरू बडेरा, अंबाला जिला महिला विंग प्रधान श्रीमती डिंपल मित्तल, यमुनानगर जिला प्रधान अनिल भाटिया, कैथल शहरी प्रधान सिकंदर लाल गुप्ता, इस्माइलाबाद नगर प्रधान अनिल सिंगला को बनाया गया है। व्यापार मंडल के प्रांतीय अध्यक्ष बजरंग गर्ग ने कहा कि सरकार की गलत नीतियों के कारण व जीएसटी व नोटबंदी करने से लगातार देश व प्रदेश में व्यापार व उद्योग पिछड़ता जा रहा है। जिसके कारण आर्थिक विकास को भारी झटका लगा है और उसके साथ-साथ बेरोजगारी बढी़ है। ऊपर से ऑनलाइन व्यापार बढ़ने से देश का खुदरा व्यापारियों की बिक्री पर इसका बहुत बुरा असर पड़ रहा है। आज हमें अपने व्यापार को बचाने के लिए संघर्ष करने की जरूरत है।

प्रांतीय अध्यक्ष बजरंग गर्ग ने कहा कि केंद्र सरकार ने जब से देश में नोट बंदी की है व जीएसटी के तहत टैक्स में बढ़ोतरी की है। तब से देश व प्रदेश में व्यापार ठप्प होता जा रहा है। सरकार को देश व प्रदेश में व्यापार व उद्योगों को बढ़ावा देने के लिए जीएसटी टैक्स प्रणाली में टैक्सों की दरों को कम करना चाहिए। ऑनलाइन व्यापार पर रोक लगानी चाहिए व व्यादा व्यापार कानून जो लाइसेंस गाड़ी सकता है व व्यादा व्यापार कानून को खत्म किया जाए व देश और प्रदेश में व्यापार व उद्योग को बढ़ावा देने के लिए केंद्र व प्रदेश सरकार को व्यापारी व उद्योगपतियों को ज्यादा से ज्यादा रियायत व सुविधा देनी चाहिए। ताकि व्यापार व उद्योग के माध्यम से बेरोजगारों को रोजगार मिल सके।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *