Connect with us

Haryana

सरकार जाट आरक्षण आंदोलन के नेताओं से किये गए वायदों से मुकर रही है: राठी

लाडवा, नरेश लाडवा के गांव जैनपुर जाटान के धरना स्थल पर अखिल भारतीय जाट आरक्षण संघर्ष समिति एवं जाट सेवा संघ द्वारा 13 सितम्बर 2010 को जाट आरक्षण आंदोलन में शहीद हुए जाट युवा सुनील श्योराण का बलिदान दिवस मनाया गया। जिसमें एकत्र जाट समाज के लोगों ने शहीद को श्रद्धासुमन अर्पित किए। समिति के जिलाध्यक्ष […]

Published

on

लाडवा, नरेश
लाडवा के गांव जैनपुर जाटान के धरना स्थल पर अखिल भारतीय जाट आरक्षण संघर्ष समिति एवं जाट सेवा संघ द्वारा 13 सितम्बर 2010 को जाट आरक्षण आंदोलन में शहीद हुए जाट युवा सुनील श्योराण का बलिदान दिवस मनाया गया। जिसमें एकत्र जाट समाज के लोगों ने शहीद को श्रद्धासुमन अर्पित किए।
समिति के जिलाध्यक्ष बलदेव राठी ने कहा कि जिस मकसद के लिए आरक्षण आंदोलन में जाट युवाओं ने बलिदान दिया था, वह मकसद आज भी अधूरा है। उन्होंने कहा कि सरकार जाट आरक्षण आंदोलन के नेताओं से किये गए वायदों से मुकर रही है। उन्होंने कहा कि फरवरी 2016 में हुए आन्दोलन में असल दोषियों को सरकार बचा रही है और निर्दोष लोगों को साजिश के तहत फसाया जा रहा है। लेकिन इस तरह की दमनात्मक कार्रवाई को कतई सहन नहीं किया जा सकता। उन्होंने कहा कि जाट समुदाय द्वारा हरियाणा के मुख्यमंत्री और वित्तमंत्री का विरोध प्रदेश भर में किया जाएगा। उन्होंने सरकार को चेतावनी देते हुए कहा कि सरकार इस मामले में एकतरफा कार्रवाई करने से बाज आए। उन्होंने सरकार से माँग की कि सरकार बिना किसी भेदभाव के कार्य करे और समाज में वैमनष्य फैलाने की अपनी नीति को विराम दे। इस अवसर पर समिति के प्रदेश महासचिव आशीष फ़ौजदार, ज्ञानसिंह, प्रीतपाल धनौरा साहब सिंह जैनपुर, बलवान सिंह, सूरजमल, प्रेमसिंह, बलकार सिंह, बाबूराम, मिहा सिहं, अजमेर फौजी, विजय गादली, निर्मल, ज्ञानसिंह, अमीलाल, धर्मपाल बपदी, अजमेर सिंह, जीतराम, सतपाल बरोट, जगमाल, जिले सिंह, रामकुमार, कमलेश चौधरी, कुलदीप सिंह, सतपाल सहित भारी संख्या में लोग उपस्थित थे।
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *